सहरमाडीह में 24 को जम्मू एवं कश्मीर के उपराज्यपाल करेंगे भव्य कीर्ति स्तंभ का लोकार्पण

 

कोई चलता पदचिन्हों पर

कोई पदचिह्न बनाता है

 

 

गाजीपुर -कश्यप किनवार भूमिहार ब्राह्मण वंश की एक स्वर्णिम गाथा का गवाह एक बार पुनः 24 दिसंबर को सहरमाडीह बनेगा। यह वही सहरमाडीह है, जो अपने अपने अतीत के गर्भ में करीब एक हजार पुराना इतिहास समेटे हुए है। किनवार वंश गाजीपुर एवं बलिया जनपद में 140 गांवों में विराजमान है। अकेले गाजीपुर में ही 92 गांव हैं। अपने वंशजों के इतिहास को समेटने के लिए इंजीनियर अरविंद राय ने इसका बीड़ा उठाया और खंडहर नुमा हो चके सहरमाडीह में किनवार कीर्ति स्तंभ बनवाकर इतिहास रच दिया। इसका लोकार्पण हजारों समाज के लोगों की मौजूदगी में जम्मू एवं कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा करेंगे। इसको लेकर इलाके के किनवार भूमिहारों में खुशी की लहर है।

 

इंजीनियर अरविंद राय ने निर्माण का लिया था संकल्प

 

ज्ञानचंद दीक्षित के वंश कुल के अरविंद राय अभियंता पुत्र स्व० नागेंद्र राय ग्राम लट्ठूडीह द्वारा अपने पूर्वजों की पुण्यभूमि सहरमाहडीह के बदहाल दशा को देखकर व्यथित होकर समाज के श्रेष्ठजनों के आग्रह पर स्वयं इस किनवार कीर्ति स्तंभ का निर्माण का संकल्प लेकर इस सम्पूर्ण स्तंभ स्थल का निर्माण कराया गया है। यहां पर सात हजार वर्गफुट में इसका निर्माण कराया गया है।इस स्थल को खुबसूरत बनाने का हर संभव प्रयास किया जा रहा है।किनवार कीर्ति स्तंभ स्थल के पास लोकार्पण समारोह के आयोजन के लिए किसानों को उचित मुवावजा देकर पूरे खेत को समतल करने के पश्चात तैयारियां जारी है।इंजीनियर अरविंद राय खुद कार्यक्रम स्थल पर उपस्थित रहकर तैयारी पर अपनी निगाह बनाये हुवे हैं।कार्यक्रम स्थल पर राजेश राय प्रबंधक जनता जनार्दन इण्टर कालेज गांधीनगर.सन्तोष राय डायरेक्टर पी आर इण्टरनेशनल स्कूल करीमुद्दीनपुर. कमलेश राय शर्मा.रविन्द्र नाथ राय.श्याम बहादुर राय.डा० व्यास मुनी राय.हिमांशु राय समेत अन्य लोग उपस्थित रहे।@विकास राय