वकील पर जानलेवा फायरिंग के आरोपी की गिरफ्तारी न होने पर भड़के वकील, जेठवारा थाने मे जताया आक्रोश

फोटो-02, पुलिस को ज्ञापन देते लालगंज के अधिवक्ता

03 आरोपी की गिरफ्तारी न होने पर थाने मे नाराजगी जताते लालगंज के अधिवक्ता

लालगंज, प्रतापगढ़। लालगंज संयुक्त अधिवक्ता संघ के पूर्व अध्यक्ष देवी प्रसाद मिश्र पर जानलेवा फायरिंग के आरोपी की गिरफ्तारी न हो पाने पर गुरूवार को वकीलों का जत्था जेठवारा थाने आ धमका। नाराज वकीलों ने आरोपी की गिरफ्तारी न होने पर जेठवारा थाना परिसर मे अनवरत धरना व प्रदर्शन का अल्टीमेटम दिया है। दोपहर संयुक्त अधिवक्ता संघ के अध्यक्ष राममोहन सिंह व उपाध्यक्ष संतोष पाण्डेय तथा महामंत्री प्रवीण यादव की अगुवाई मे वकीलों का एक जत्था जेठवारा थाने पहुंचा। यहां संघ के अध्यक्ष राममोहन सिंह की अगुवाई मे एसपी को संबोधित ज्ञापन भी प्रभारी एसओ रमेश को दिया गया। वकीलों मे इस बात का गुस्सा दिखा कि घटना के चार दिन बाद भी अभी तक पुलिस आरोपी को गिरफ्तार नही कर सकी। पूर्व अध्यक्ष ज्ञानप्रकाश शुक्ल ने साफ कहा कि यदि पुलिस ने मामले मे ढिलाई बरती तो लालगंज समेत जिले भर के वकील जेठवारा थाने मे अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन शुरू करेंगे। इस बीच अध्यक्ष राममोहन सिंह ने एएसपी पश्चिमी रोहित मिश्र तथा सीओ सदर पवन त्रिवेदी से फोन पर वार्ता कर जेठवारा पुलिस के रवैये पर नाराजगी जताई। अफसरो ने वकीलों को तीन दिन के भीतर आरोपी की गिरफ्तारी का भरोसा दिलाकर शांत कराया। इसके बाद संघ के अध्यक्ष राममोहन सिंह ने जेठवारा पुलिस को तीन दिन की मोहलत देते हुए कार्रवाई न होने पर थाने के घेराव की भी चेतावनी दी है। अचानक जेठवारा थाने मे बड़ी संख्या मे वकीलों के जमावड़े को देख पुलिसकर्मी भी सकपका गये। वकीलों की नाराजगी को देखते हुए थाने मे मौजूद प्रभारी एसओ समेत पूर्व एसओ रवीन्द्र तिवारी ने भी आरोपी की गिरफ्तारी जल्द करने की बात कही। बतादें लक्ष्मणपुर विकासखण्ड के हरिहरपुर कैलहा गांव के प्रधान व लालगंज तहसील के वरिष्ठ अधिवक्ता देवी प्रसाद मिश्र के ऊपर गांव मे बीते रविवार को एक पंचायत के दौरान आरोपी गांव के शहजाद द्वारा तमंचे से फायर कर अधिवक्ता पर जानलेवा हमला किया गया था। घटना को लेकर जेठवारा पुलिस ने आरोपी समेत एक अन्य के खिलाफ गंभीर धाराओं मे केस दर्ज किया है। घटना मे लापरवाही को लेकर जेठवारा के एसओ रवीन्द्र तिवारी को भी एसपी के कोपभाजन का शिकार होना पड़ा। एसपी ने तत्कालीन एसओ को वकीलों के आक्रोश को देखते हुए लाइनहाजिर भी कर दिया है। इस मौके पर पूर्व अध्यक्ष अनिल त्रिपाठी महेश, पूर्व अध्यक्ष अजय शुक्ल गुडडू, पूर्व महामंत्री रामकुमार पाण्डेय व आशीष तिवारी, धीरेन्द्र शुक्ला, हरिश्चंद्र पाण्डेय आदि अधिवक्ता रहे।