भागवत कथा के श्रवण मात्र से कट जाते सारे पाप: पं. शेषधर मिश्र अनुरागी जी महाराज

 

प्रतापगढ़। भागवत कथा के श्रवण मात्र से मानव के सारे पाप कट जाते हैं और उसे इतना अधिक पुण्य मिलता है जितना किसी बड़े यज्ञ में भी नहीं मिल पाता। उक्त बातें कथावाचक पं. शेषधर मिश्र अनुरागी जी महाराज ने कही। उन्होंने कहा कि बावजूद इसके मनुष्य को अपने कर्म पर ध्यान देना चाहिए। अच्छे कर्म से ही भगवान की प्राप्ति होती है। उन्होंने कहा कि ईश्वर के नाम से बड़ा सुख पूरे संसार में कही भी नहीं है। इनके नाम के उच्चारण और श्रवण मात्र से लोगों के सारे पाप नष्ट हो जाते हैं। ईश्वर की भक्ति से न तो सिर्फ पारिवारिक संकट दूर होता है बल्कि समाज और राष्ट्र में भी खुशहाली आती है। भगवान श्री कृष्ण और राधा की सच्ची भक्ति तभी संभव है जब प्रत्येक व्यक्ति सद्कर्म करें तथा भागवत का श्रवण सच्चे मन से करें। ग्राम फतेहपुर रांगीगंज- प्रतापगढ़ में आयोजित इस यज्ञ एवं भागवत आनन्द महोत्सव के चौथे दिन उन्होंने कहा कि ईश्वर के नाम से बड़ा सुख पूरे संसार में कहीं भी नहीं है। उन्होंने कहा कि किसी भी बड़े अनुष्ठान में प्रत्येक व्यक्ति का सहयोग होता है। ऐसे अनुष्ठान में सिर्फ पूजा-पाठ करना ही बड़ी भक्ति नहीं है बल्कि ईश्वर के नाम पर सच्चे मन से एक तिनका उठा देना भी प्रभु भक्ति को दर्शाता है और प्रभु की उस व्यक्ति पर भी उतनी की कृपा रहती है। इस कथा के आयोजन में काफी संख्या में लोगों ने हिस्सा लिया। इस अवसर पर आयोजित काफी संख्या में श्रद्धालु आए । इस भागवत कथा के कारण पूरे क्षेत्र का माहौल भक्तिमय हो गया है।