*इज्जत घरों को प्रधान व सचिव ने कर डाला बेइज्जत बेबस विकलाग महिलाएं खुले में शौच जाने को मजबूर*

 

टोडरपुर हरदोई रिपोर्ट ताहिर खान

 

बेहटा गोकुल थाना क्षेत्र के पन्योरा बल्लिया में हैण्डपम्प रिबोर व मरम्मत में भी झोल वर्तमान प्रधान राजेश कुमार मिश्रा व ग्राम विकास अधिकारी ने गांव में विकास के नाम पर जमकर खेल किया है, एक ओर सरकार भृष्टाचार मुक्त ईमानदार सरकार का नारा दे रही है, लेकिन दूसरी ओर जिम्मेदार अधिकारी सिर्फ कागजों पर विकास कर वाहवाही लूटने में लगे हुए है यहां के ग्रामवासी व विकलांग महिलाएं भी खुले में शौच जाने को मजबूर व बेबस दिखे, जब हमने कारण जानने की कोशिश की तो ग्रामीणों द्वारा बताया गया कि गांव में ना ही कोई नाली निर्माण हुआ है जो पुरानी नाली हैं उनको सफाई कर्मी साफ करने नहीं आता है कई बीमारी फैलने की आशंका है वर्तमान प्रधान जिम्मेदारो की मिलीभगत से उनके शौचालयों का पैसा डकार गया है, जिसके चलते शौचालयों में आज तक टैंक ही नही बन सके है। यहां के शौचालय सिर्फ शोपीस बनकर रह गए है, यहाँ आधे-अधूरे शौंचालय बनाकर जिम्मेदारों ने स्वच्छ भारत मिशन का मजाक बना दिया है। शायद ही कोई शौंचालय हो जिसमें ग्रामीण शौंच के लिए जाते हों। जितने भी शौंचालयों का लाभार्थियों को भुगतान हुआ, उनका आधा-अधूरा निर्माण कराकर प्रधान व सचिव ने जमकर भ्रष्टाचार किया। ग्रामीणों का कहना है कि इसके अतिरिक्त कई अन्य योजनाओं में भी प्रधान व सचिव ने जमकर भृष्टाचार किया है ग्राम पंचायत में हैण्डपम्पो को बिना रिबोर व मरम्मत कराए ही पैसा निकाल लिया हैंडपंपों कोई नया निर्माण नहीं हुआ है धनराशि को प्रधान व सचिव के द्वारा गबन करने की बात भी सामने आई। इसके अतिरिक्त सामुदायिक शौंचालय में ताला लगा रहता है ग्रामीण खुले में शौच जाने को मजबूर है