*गरिमा के साथ हर व्यक्ति का जीवन जीना सुनिश्चित हो इसीलिए है निशुल्क विधिक सेवाएं -नीरज कुमार त्रिपाठी*

 

 

पट्टी, प्रतापगढ़।उत्तर प्रदेश राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के निर्देश एवं जिला अध्यक्ष माननीय श्री संजय शंकर पाण्डेय जी के आदेश के क्रम में पट्टी तहसील क्षेत्र के ग्राम खूझी कला में आजादी का अमृत महोत्सव के अंतर्गत आयोजित निशुल्क विधिक सहायता एवं कल्याणकारी योजनाएं विषय पर विधिक साक्षरता एवं जागरूकता शिविर में लोगों को संबोधित करते हुए सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण श्री नीरज कुमार त्रिपाठी जी सिविल जज सीनियर डिवीजन प्रतापगढ़ ने कहा कि मानव गरिमा के साथ हर व्यक्ति का जीवन जीना सुनिश्चित हो इसीलिए कमजोर वर्गों के लिए निशुल्क विधिक सहायता का प्रावधान किया गया है, उन्होंने बताया कि निशुल्क विधिक सहायता के अंतर्गत जहां मनपसंद अधिवक्ता चुनने का अधिकार है वही गिरफ्तारी के समय गिरफ्तारी के कारण जानने का अधिकार भी है। किसी व्यक्ति को गिरफ्तार करने पर 24 घंटे के अंदर मजिस्ट्रेट के समय प्रस्तुत करने का प्रावधान किया गया है, एवं जमानती अपराध में पुलिस जमानत दे सकती है ।महिलाओं के अधिकारों पर चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि महिलाओं के लिए जहां समान कार्य के लिए समान वेतन का प्रावधान किया गया है वहीं मातृत्व लाभ ,यौन उत्पीड़न की पीड़िता का नाम ना सार्वजनिक करने का अधिकार है, वहीं महिलाओं की सुरक्षा के लिए घरेलू हिंसा से महिलाओं का संरक्षण अधिनियम बनाया गया है। रात में महिलाओं को गिरफ्तार नहीं किया जा सकता एवं महिलाओं को संपत्ति में बराबरी का अधिकार प्राप्त है ।तहसील विधिक सेवा समिति एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण से संपर्क कर महिलाएं निशुल्क विधिक सहायता एवं सलाह प्राप्त कर सकती हैं । निशुल्क विधिक सहायता का उद्देश्य यह भी है कि समाज के अंतिम पायदान पर खड़े व्यक्ति को अधिकार एवं सुरक्षा मिले ।महिलाओं को संरक्षण एवं सुरक्षा का अधिकार है उन्होंने कहा कि हमें समाज में लड़के और लड़की में बराबर का व्यवहार करना होगा एवं बालिकाओं को उनके अधिकार देने होंगे ।उन्होंने चर्चा करते हुए कहा कि स्वस्थ समाज में ही स्वस्थ कानून की परिकल्पना की जा सकती है‌। इस अवसर पर जिला पंचायत राज अधिकारी श्री रविशंकर द्विवेदी ने सरकार की कल्याणकारी योजनाओं पर चर्चा करते हुए बताया कि गरीबों के लिए सरकार जहां निशुल्क राशन उपलब्ध करा रही है वही विधवा, वृद्धा, दिव्यांग पेंशन, प्रधानमंत्री आवास, मुख्यमंत्री आवास, श्रमिक पंजीकरण आदि का प्रावधान किया गया है ।कार्यक्रम में पैनल अधिवक्ता जेल विजिटर श्री विश्वनाथ प्रसाद त्रिपाठी ने कहा कि महिलाओं ,बच्चों, अनुसूचित जाति के लोगों, आपदा से पीड़ित लोगों, कमजोर वर्ग के लोगों के लिए या जिनकी वार्षिक आमदनी ₹300000 तक है उनके लिए निशुल्क विधिक सहायता एवं सलाह का प्रावधान किया गया है । उन्होंने बताया कि आजादी का अमृत महोत्सव के अंतर्गत यदि किसी महिला का वैवाहिक वाद सामने आता है तो प्रार्थना पत्र प्राप्त करते हुए दोनों पक्षों को आपसी सुलह समझौते के आधार पर निस्तारित किए जाएंगे। इस अवसर पर खंड विकास अधिकारी बाबा बेलखरनाथ धाम उमेश यादव ने विकासखंड से संचालित कल्याणकारी योजनाओं के बारे में जानकारी दिया ।कार्यक्रम का संचालन पीएलवी जिला विधिक सेवा प्राधिकरण राम प्रकाश पाण्डेय ने किया। इस अवसर पर ग्राम पंचायत अधिकारी सुनील प्रभाकर ,लेखपाल विनोद कुमार तिवारी ,प्रभाकर सिंह, सुधाकर सिंह ,अनिल कुमार, देव प्रताप तिवारी ,पृथ्वी नारायण , जीत बहादुर ,मोहम्मद अशफाक अहमद ,विशाल सिंह ,बंदना, शीला ,सुनीता ,उमेश सिंह आदि लोग मौजूद रहे।