पट्टी की धरती से अगाध प्रेम, यही से लड़ूंगा चुनाव

पट्टी, प्रतापगढ़।रविवार को क्षेत्र के रूर शहीद स्मारक पर अवध किसान सभा के गठन के 101 वर्ष पूर्ण होने के अवसर पर किसान महोत्सव का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि कैबिनेट मंत्री ग्रामीण विकास एंव समग्र विकास मंत्री राजेन्द्र प्रताप सिंह रहे।

अवध किसान आयोजन समिति के तत्वावधान में आयोजित कार्यक्रम में पहुंचे कैबिनेट मंत्री मोती सिंह ने शहीद स्मारक पर शहीदों को पुष्प अर्पित किया, उसके बाद स्मारक स्थल पर वट वृक्ष का रोपण किया। मंच से संबोधित करते हुए कैबिनेट मंत्री राजेन्द्र प्रताप सिंह ने कहा कि अवध किसान सभा का गठन रूर गांव में किया गया था। बाबा रामचंद्र, ठाकुर झिंगुरी सिंह, सहदेव सिंह, अयोध्या, अक्षयबर सिंह, प्रयाग, काशी, भगवानदीन, आदि किसान नेताओ ने अवध किसान सभा के गठन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी ऐसे किसानों की शहादत को कभी भुलाया नही जा सकता है। उन्होंने कहा की पट्टी की धरती पर हमारा जन्म हुआ है और यही से चुनाव लड़ूंगा यही हमारा संकल्प है। पट्टी में विकास के लिए हमेशा सजग था और हमेशा रहूंगा। उन्होंने रूर में ब्लाक बनाने की प्रतिबद्धता दोहराई। कार्यक्रम में फौजदार सिंह का आल्हा का आयोजन किया गया। कवि सम्मेलन में जयराम पांडे राही व हमदम प्रतापगढ़ी ने अपनी रचनाये पढ़ी। कार्यक्रम में मुख्य रूप से ब्लाक प्रमुख पट्टी राकेश सिंह पप्पू, ब्लाक प्रमुख आसपुर देवसरा कमलाकांत यादव, ग्राम प्रधान बाभनपुर अरविंद वर्मा ,स्वतंत्रता सेनानी ठाकुर झिंगुरी सिंह के परपौत्र दिनेश सिंह, पूर्व प्रधान रमेश सिंह, अमित तिवारी, उदय प्रताप सिंह मुन्ना, राम प्रकाश पांडे, सांसद प्रतिनिधि संजय सिंह,शिव प्रसाद गुप्ता,ग्राम प्रधान उमरडीहा रमाशंकर सरोज, कमलेश बहादुर वर्मा, नरेंद्र पांडे, रमाशंकर तिवारी, दिनेश तिवारी, पूर्व प्रधान राकेश यादव, चंद्र प्रकाश तिवारी, राजेश वर्मा, अमरनाथ वर्मा, शेर बहादुर यादव, पूर्व प्रधान धुई अनिल तिवारी , रुपेश गिरी, धीरज सिंह,नरेंद्र सिंह, अमित सिंह, सुरेश सिंह राठौर विजेंद्र सिंह, अजीत गुप्ता,राजीव पांडे, लालजी वर्मा, महेंद्र यादव शुभम पांडे पांडे राजेश तिवारी अभिषेक तिवारी, संदीप तिवारी ,मनीष सिंह, जिला मंत्री पंकज सिंह, सतीश सिंह, प्रदीप, रामाश्रय शुक्ला,प्रमोद सिंह लल्लन पांडे धर्मेंद्र सिंह, सहित कार्यक्रम में हजारों लोग मौजूद रहे कार्यक्रम का संचालन राम प्रकाश पांडेय ने किया।