पुराने संविदा कर्मियों की वेतन कटौती व आर्यन ग्रुप से बाहर किए गए 35 कर्मी बैठे धरने पर

 

आउटसोर्सिंग पर नियुक्त चहेते कर्मियों के वेतन विसंगति पर पालिका ने चलाया जुगाड़ का जादू

पिहानी/हरदोई।कस्बे में साफ-सफाई की चकाचौंध व्यवस्था के लिए मेहनती और ईमानदार सेवा के लिए प्रख्यात आर्यन ग्रुप के सफ़ाई कर्मचारी शनिवार सुबह होते ही पालिका कार्यालय के सामने धरने पर बैठ गए।जानकारी करने पर ज्ञात हुआ है कि इन दिनों नगर पालिका पिहानी में जाति-पाति के चक्कर में चहेतों की चाह और अपने अपनों का वायरस फैला है जिसके चलते आउटसोर्सिंग को बढ़ावा देकर अपने-अपने चहेते कर्मचारियों को इतनी बडी संख्या में ड्यूटी पर लगाया गया है जिनके वेतन की पूर्ति के लिए पालिका लोकसेवकों ने बजट के अभाव में जुगाड़ का रास्ता निकाला।इस जुगाड़ से नव नियुक्त आउटसोर्सिंग कर्मियों के वेतन की पूर्ति पुराने संविदा कर्मचारियों के वेतन में कटौती से की जा रही थी मगर जब आउटसोर्सिंग में नवनियुक्त कर्मचारियों की संख्या और अधिक बढ़ाई गई तो उनके वेतन की विसंगति को दूर करने के लिए पालिका लोकसेवकों ने गुरुवार को आर्यन ग्रुप को अपना कार्य बंद करने का नोटिस दे दिया।जब ग्रुप के प्रबंधक व मैनेजर ने पूर्ण रुप से कार्य न बंद करने का विशेष अनुरोध किया तो उनसे बजट के अभाव का रोना रोकर आपने कर्मचारी कम करने का निर्देश किया गया।उसके बाद पूर्ण रुप से कार्य बंद होने से अच्छा कुछ कर्मचारी कम करके कार्य करा लेने की शर्त पर आर्यन ग्रुप प्रबंधक ने पालिका लोक सेवकों की शर्त मान ली और अगले ही दिन पैंतीस (35 ) कर्मचारियों को कम्पनी ने बाहर का रास्ता दिखा दिया।बस नवनियुक्त आउटसोर्सिंग कर्मचारियों के वेतन विसंगति का जुगाड़ फिट हो गया।इधर ड्यूटी से निकाले गए समस्त 35 कर्मचारी गुस्से मे पालिका कार्यालय के सामने आकर धरने पर बैठ गए हैं उनकी माँग है कि हमें ड्यूटी पर पुनः वापस लिया जाए या फिर शेष कर्मचारियों को ड्यूटी से निकालकर नगर में आर्यन ग्रुप का काम बंद किया जाए। रिपोर्ट ताहिर खान