मुंबई से भागकर आए प्रेमी युगल को पुलिस ने लिया हिरासत में कर रही पूछताछ

 

पट्टी,प्रतापगढ़।कोतवाली क्षेत्र के बड़ारी गांव में मुंबई शहर से भागकर आए प्रेमी युगल को पुलिस ने लिया हिरासत में, कर रही पूछताछ,

जानकारी के अनुसार उत्तर प्रदेश के गोंडा जिले का एक परिवार मुंबई शहर के नालासोपारा में रहता है उन्हीं के पड़ोस में पट्टी कोतवाली क्षेत्र के बड़ारी गांव का भी एक परिवार निवास करता है, जिनमें गोंडा शहर की एक किशोरी का बड़ारी गांव के एक युवक के साथ प्रेम हो गया,

दोनों एक दूसरे से प्रेम कर रहे थे, इस दौरान बीते 27 तारीख को दोनों मुंबई से भाग निकले और भागकर बड़ारी गांव आ गए।

इस मामले में किशोरी के पिता ने नालासोपारा थाने में मुकदमा भी पंजीकृत करवाया है, और स्थानीय पुलिस ने घटना की जानकारी पट्टी कोतवाली पुलिस को दी, कि दोनों मुंबई शहर से भाग कर बड़ारी गांव पहुंचे हैं।

पुलिस को सूचना मिलते ही पट्टी कोतवाल गणेश प्रसाद सिंह हमराही सिपाहियों के साथ गांव पहुंचे और प्रेमी जोड़े को हिरासत में लेकर थाने आए जहां पर उनसे पूछताछ की जा रही है।

 

विवाहिता को ससुराली जन करते थे प्रताड़ित थाने पर चली पंचायत में अलग रहने का हुआ फैसला

 

पट्टी,प्रतापगढ़। कोतवाली क्षेत्र के महदहां गांव की रहने वाली ज्योति पटेल जिसका मायका आसपुर देवसरा थाना क्षेत्र के पूरा गांव में है, वह आज कोतवाली पहुंची और पुलिस को लिखित शिकायती प्रार्थना पत्र दिया कि उसके पति समेत ससुरालीजन आए दिन से प्रताड़ित करते हैं।

उसने पुलिस को दिए गए प्रार्थना पत्र में आरोपित किया था कि उसका पति नशे का आदी है और पति के नशे की लत से वह परेशान है। उसका आरोप है कि उसका पति जब भी नशा करके आता है तो उसे प्रताड़ित करता है मारता पीटता है तरह-तरह से हैरान-परेशान करता है।

जिसकी लिखित शिकायत पीड़िता ने थाने में दी थी, जिस पर आज रविवार को दोनों पक्षों के बीच पट्टी कोतवाली में दिनभर पंचायत चलती रही और देर शाम पंचायत के दौरान यह फैसला हुआ कि दोनों अलग हो जाएंगे।

इस दौरान यह फैसला हुआ कि दोनों एक दूसरे द्वारा लिए गए सामान सोमवार को थाने के अंदर ही एक दूसरे को वापस कर अलग होंगे।

फिलहाल देखना यह होगा कि कल इस मामले में क्या होता है, दोनों एक दूसरे का सामान वापस कर राजी खुशी अलग होते हैं या इसमें कोई कानूनी अड़चन भी आती है।

फिलहाल आज पूरे दिन पट्टी थाने पर इस मामले को लेकर पंचायत दोनों पक्षों के बीच चलती रही।