सपा नेताओं ने अपने राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के जन्मदिवस पर गिनाये उनके सैकड़ों अच्छाई व खूबियाँ । नेताओं ने जिलापंचायत अध्यक्ष चुनाव में सत्ता पक्ष पर लगाया सरकारी मशीनरी के दुरुपयोग का आरोप ।

शैलेश सिंह

बलिया। प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री व समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव का 48 वॉ जन्मदिन समाजवादियों ने आज पार्टी के जिला कार्यालय पर कोविड नियमो का पालन करते हुए बहुत ही धूमधाम से मनाया । नेताओं ने इस अवसर पर अखिलेश सरकार के सैकड़ों कार्यो व उनके व्यक्तित्व और कृतित्व पर व्यापक प्रकाश डालते हुए उनकी दीर्घायु होने की कामना की। इस अवसर सपा कलर में निर्मित बृहद केक को काट कर कार्यकर्ताओं ने एक-दूसरे को खिलाया ।
जन्मदिवस समारोह को सम्बोधित करते हुए पूर्व लोकसभा प्रत्याशी सनातन पाण्डेय ने कहा कि अखिलेश यादव सर्व समाज के और दूरदर्शी सोच के नेता है । उनमें प्रदेश ही नहीं बल्की देश का नेतृत्व करने की भी क्षमता विद्यमान है। प्रदेश के मुख्यमंत्री रहते उन्होंने लोक कल्याण और सर्व समाज के लिए जिन योजनाओं का संचालन किया वह आज भी आम जनता के लिए उपयोगी और सार्थक है । वर्तमान सरकार अखिलेश जी द्वारा किया गया विकास के कार्यों का ही अनुकरण कर रही है स्वयं तो कुछ किया ही नही किया । जिलाअध्यक्ष राजमंगल यादव ने कहा कि अखिलेश यादव जी का वेदाग चरित्र और जनहित की सोच राजनीति में एक उदाहरण है उनके मन मे हमेशा गरीबो कमजोरों और बंचितो के बेहतरी की बात रहती है सामाजिक समरसता की उनकी सोच है, प्रदेश का विकास उनका जुनून है और युवाओं का प्रोत्साहन उनकी आदत है।
इस अवसर पर जिलापंचायत अध्यक्ष के चुनाव में सत्तादल के द्वारा सत्ता के मद में किये जा रहे लोकतंत्र की हत्या व अनैतिक कार्यो पर भी सपा नेताओं ने खूब बरसे और कहा कि सत्ता पक्ष के लोग सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग कर जनपद में भय का माहौल पैदा करना चाहते है । उन्होंने कहा कि सत्ताधारी दल को जनमत पर विश्वास नही है इसलिए जिलापंचायत सदस्यों के मतों को खरीदने और छिनने में लगे है ।सपा नेताओ ने अपने राष्ट्रीय अध्यक्ष के जन्मदिवस पर यह संकल्प लिया कि सत्ता के हर जुल्म-जोर के टक्कर में संघर्ष हमारा नारा होगा ।
इस अवसर पर मुख्यरूप से पूर्वमंत्री नारद राय, श्रीमती मंजू सिंह,जय प्रकाश अंचल,सुभाष यादव,गोरख पासवान,लक्षमण गुप्त,संजय उपाध्याय, डा.विश्राम यादव,यशपाल सिंह, पार्टी प्रवक्ता सुशील कुमार पाण्डेय “कान्ह जी” बंशीधर यादव, रामजी गुप्त,जय प्रकाश यादव मुन्ना,अजीत मिश्र,कामेश्वर सिंह,अनिल राय,अकमल नईम खा मुन्ना,संतोष भाई,डा. संतोष राम,रमेश चंद्र साहनी,कुबेर तिवारी,हरेन्द्र सिंह,अजय यादव, शैलेश सिंह, बरमेश्वर प्रधान,देव नारायण सिंह पुन्न,रामेश्वर पासवान,रविन्द्र नाथ यादव,जय प्रकाश, आनंद यादव,धनञ्जय सिंह विसेन, दीवान सिंह,ममता चंद्र,विवेक तिवारी,अशोक प्रमुख,शिवजी त्यागी,मिथिलेश सिंह,मंटू साहनी, अभय सिंह,रिंकू,सुनील पासवान पिंटू,जलालुद्दीन जे. डी.राकेश यादव,दिलीप भाई,निशु श्रीवास्तव,रामभरोसे,मंटु दुबे,विश्वनाथ चौधरी,निर्भय सिंह,अभिषेक पाण्डेय,गुरुज लाल राजभर,इम्तियाज अहमद,रेशु पठान,मंटु साहनी,अरविंद वाल्मीकिआधी उपस्थित रहे।अध्यक्षता राजमंगल यादव और संचालन राजन कनौजिया ने किया