बिकाश सिंह

यूपी/बलिया । अवैध शराब बनाने और बेचने वालों के सिंडिकेट के खिलाफ एसपी बलिया डॉ विपिन ताडा की मुहिम को मंगलवार को बड़ी सफलता मिली है । पुलिस अधीक्षक की अगुवाई में कोतवाली पुलिस ने कोतवाली क्षेत्र के अमृतपाली व सहरसपाली में छापेमारी करके कुल 20 ड्रम रेक्टिफाइएड स्प्रिट,50 पेटी क्रेजी रोमियो ब्रांड से बनायी गयी शराब व होमियोपैथी की दवा,सैक्रीन,रैपर,ढक्कन व सैकड़ो खाली पेटी व बोतल बरामद हुई है । इन दोनों जगह की गई छापेमारी में अमृतपाली की बीयर की दुकान का लाइसेंसी,सेल्समैन, आटा चक्की मालिक, सहरसपाली स्थित अवैध फैक्ट्री का मकान मालिक और इस मकान को किराये पर लेने वाला आदित्य गोड को पुलिस ने हिरासत में लेकर पूंछताछ शुरू कर दी है ।
बता दे कि पुलिस अधीक्षक को गोपनीय तरीके से सूचना मिली थी कि कोतवाली क्षेत्र में अवैध शराब का निर्माण व बिक्री हो रही है । इस सूचना को आधार बनाकर पुलिस अधीक्षक ने शहर कोतवाल को इसकी तहकीकात में लगाया । पुख्ता जानकारी हो जाने के बाद आज शाम को लगभग 5 बजे पुलिस अधीक्षक के नेतृत्व में अपर पुलिस अधीक्षक, सीओ सिटी,शहर कोतवाल,सतनी सराय चौकी इंचार्ज की संयुक्त टीम ने अमृतपाली स्थित बियर की दुकान के बगल में आटा चक्की पर छापेमारी की तो वहां 200 लीटर वाले प्लास्टिक के ड्रम में कुल 14 ड्रम रेक्टिफाइएड स्प्रिट बरामद हुई । इसमे बियर दुकान की संलिप्तता पाये जाने पर लाइसेंसी अंजनी सोनी (चौक सिनेमा रोड),सेल्समैन दीपक,आटा संचालक अमृतपाली निवासी मनोज चौरसिया को पुलिस ने हिरासत में ले लिया ।
उपरोक्त आरोपियों से कोतवाली में पूंछताछ होने पर इनका एक और सहयोगी आदित्य गोंड जो निधारिया थाना फेफना , भी हिरासत में ले लिया गया । जब इससे पूंछताछ हुई तो इसने सहरसपाली में अवैध फैक्ट्री की बात बतायी । जिसके बाद पुलिस अधीक्षक के नेतृत्व में पुलिस टीम ने रात लगभग साढ़े सात बजे सहरसपाली स्थित अवैध शराब बनाने की फैक्ट्री पर छापेमारी की । छापेमारी में यहां 50 पेटी(200 ml) क्रेजी रोमियो नाम से बनायी गयी अवैध शराब,शराब बनाने में सहायक होमियोपैथी की दवा की बोतलें, सैकरीन, सैकड़ो पेटी खाली बोतले,ढक्कन,रैपर और 6 ड्रम रेक्टिफाइएड स्प्रिट बरामद हुआ । सहरसपाली की मकान ओकडेनगंज में प्लास्टिक के ड्रम बेचने वाले सतीश कुमार वर्मा की है । पुलिस ने सतीश वर्मा को भी हिरासत में लेकर संलिप्तता की जांच कर रही है । सतीश के अनुसार इसने आदित्य गोंड व राहुल को यह मकान 3500 रुपये मासिक किराये पर दिया था । कहा कि ये लोग पेंट का काम करने के नाम पर किराये पर लिये थे ।
पुलिस की इस कार्यवाही से शराब माफियाओं में हड़कम्प मच गया है । सूत्रों की माने तो इनसे पूंछताछ के बाद शहर के कई नामचीन चेहरे भी इस अवैध धन्धे के खेल में उजागर हो सकते है । पुलिस अधीक्षक ने कोतवाली पुलिस को इस सफलता पर 10 हजार रुपये का इनाम देने की घोषणा की है ।