राजेश सिंह 

अतरौलिया क्षेत्र के रामपुर खास, गोविंदपुर निवासी पूर्व मंत्री रहे विभूति प्रसाद निषाद का निधन 11 जून को 63 वर्ष की उम्र में हो गया था । एक मंत्री को प्रोटोकॉल के अनुसार राजकीय सम्मान ना मिलने से परिवार के लोग दुखी थे। शनिवार दोपहर 11:00 बजे पूर्व मंत्री स्वर्गीय विभूति प्रसाद निषाद की अस्थि कलश विसर्जन यात्रा उनके पैतृक निवास रामपुर गोविंदपुर से उप जिलाधिकारी, तहसीलदार, तथा नायब तहसीलदार की मौजूदगी में पूरे राजकीय सम्मान के साथ निकाली गई । यह अस्थि कलश यात्रा अतरौलिया, बुढ़नपुर, कप्तानगंज, आजमगढ़ होते हुए बनारस तक जाएगी । जहां गंगा में प्रवाहित की जाएगी। अस्थि कलश विसर्जन यात्रा में स्वर्गीय विभूति प्रसाद निषाद के गांव की सैकड़ों महिलाएं और पुरुषों ने हिस्सा लिया, तथा विभूति प्रसाद अमर रहे के नारे भी लगाए । स्वर्गीय विभूति प्रसाद निषाद 1996 में बहुजन समाज पार्टी के टिकट पर चुनाव जीते और उन्हें इलेक्ट्रॉनिक मंत्री का पद दिया गया था । उन्होंने अपने उसूलों से कभी समझौता नहीं किया ।सादगी पसंद जीवन जीना पसंद करते थे। एक छोटी सी झोपड़ी में उन्होंने अपना पूरा जीवन गुजार दिया। इस मौके पर उप जिलाधिकारी बूढ़नपुर अरविंद कुमार सिंह, तहसीलदार शक्ति प्रताप सिंह ,नायब तहसीलदार धर्मेंद्र सिंह ,प्रभारी निरीक्षक पंकज पांडेय, रमाकांत मिश्रा, यस के निषाद ,गुलाबचंद, मिथिलेश कुमार ,अखिलेश कुमार, इंजीनियर एसके प्रसाद, सुभाष चंद्र, ग्राम प्रधान रमेश, राजस्व निरीक्षक राम सुंदर यादव सहित सैकड़ों लोग अस्थि कलश विसर्जन यात्रा में मौजूद रहे।