वरूण सिंह
उत्तर प्रदेश में अगले साल 2022 ने विधानसभा चुनाव होने हैं, अभी से सियासी सरगर्मियां तेज हो चुकी हैं, इसी बीच खबर है कि मायावती की पार्टी बहुजन समाज पार्टी और असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) का गठबंधन हो सकता है । यह दोनों पार्टियां अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव में एक साथ मैदान में उतर सकती हैं, एआईएमआईएम यूपी के प्रदेश अध्यक्ष शौकत अली ने कहा कि इस गठबंधन को लेकर दोनों पार्टी के नेताओं के बीच बातचीत चल रही है । बिहार विधानसभा चुनाव में अपने प्रदर्शन से सबको चौंकाने वाली एआईएमआईएम पार्टी यूपी में भी अपना भविष्य तलाश रही है, बता देंं कि एआईएमआईएम के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी पिछले दिनों आजमगढ़ जनपद के माहुल बाजार निवासी एआई एमआईएम के प्रदेश अध्यक्ष शौकत अली की लड़की की शादी में आए थे, इस दौरान अलग-अलग राजनीतिक दलों के नेताओं से मुलाकात भी की थी, इसमें ओम प्रकाश राजभर और शिवपाल यादव जैसे नेताओं का नाम शामिल है । उत्तर प्रदेश में 403 विधानसभा सीटें हैं, पिछली बार हुए विधानसभा चुनाव में बीएसपी कुछ खास प्रदर्शन नहीं कर पाई थी, पार्टी ने विधानसभा की सभी सीटों पर चुनाव लड़ा था, लेकिन उसके खाते में महज 19 सीटें ही आ पाई थीं, उसे कुल 22.23 फीसदी वोट मिले थे, वहीं ओवैसी की पार्टी जिला पंचायत सदस्य का चुनाव लड़ी थी, और अच्छा प्रदर्शन किया था, आने वाले विधानसभा चुनाव को देखते हुए दोनों पार्टियां गठबंधन कर सकती हैं । इससे बसपा को जहां मुसलमान वोट मिलेगा, वही एआईएमआईएम को दलित वोट मिलेगा और दोनों पार्टियों को एक दूसरे का वोट ट्रांसफर होगा, और दोनों पार्टियों को इसका फायदा मिलेगा ।