मोहम्मद अकलेन
फूलपुर ( आज़मगढ़ ) । फूलपुर कोतवाली क्षेत्र के ऊदपुर गांव में ग्रामीणों ने कब्रिस्तान में कब्र खोदने से मना कर दिया । कब्र खोदने को लेकर मृतक के परिवार और ग्रामीणों में नोक झोंक हो गयी । वही दूसरे गांव  शाहजेरपुर के लोगो ने मानवता का परिचय देते शाहजेरपुर कब्रिस्तान में शव दफनाने के लिए आमंत्रित कर दिया । इस घटना से लोग जहाँ  शाहजेरपुर के निवासियों की लोग प्रसंशा कर रहे है । वही उदपुर के लोगो की लोग हंसी उड़ा रहे है । जो चर्चा का विषय बना हुआ है । अहरौला थाना क्षेत्र के इब्राहिमपुर ग़हजी गांव निवासी मुहम्मद असगर पिछले 25 वर्षो से ऊदपुर गांव में जमीन खरीद कर निजी घर बनवा कर परिवार सहित रहते है। शुक्रवार को मुहम्मद असगर का पुत्र वजैफ़ा 15 की मौत हो गई, वह काफी दिनों से गंभीर बीमारी से ग्रसित था। किशोर के शव को दफन करने के लिए ऊदपुर कब्रिस्तान में कब्र खोदने गए तो ऊदपुर के ग्रामीणों ने कब्र खोदने से मना कर दिया। ग्रामीणों का कहना था कि ये लोग यहां के रहने वाले नही है। इस पर मुहम्मद असगर के परिवार के लोगो ने बगल के गांव शाहजेरपुर के लोगो को फोन किया गांव के लोगो ने मानवता की परिचय देते हुए अपने गांव शाहजेरपुर में किशोर के शव को दफन करने की मंजूरी दे दी।  लगभग 2:30 बजे दिन में किशोर के शव को शाहजेरपुर गांव के कब्रिस्तान में खाक-ए-सुपुर्द किया गया। इस दौरान काफ़ी संख्या में लोग मौजूद रहे। क्षेत्र में शाहजेरपुर के लोगो की मानवता का परिचय देने पर प्रसंशा कर रहे है । उदपुर गांव के लोगो द्वारा शव को दफनाने देने की लोग निंदा भी कर रहे है ।