अशोक श्रीवास्तव
घोसी/मऊ। माकपा व भाकपा (माले) आदि वामपंथी दलों द्वारा बढ़ती हुई महंगाई के विरुद्ध 16 जून से 30 जून तक चलाये जा रहे जन जागरण अभियान के क्रम में नगर के मधुबन मोड़ से एक जुलूस निकालकर घोसी तहसील मुख्यालय पर प्रदर्शन करते हुए प्रधानमंत्री के नाम सम्बोधित एक आठ सूत्रीय मांग पत्र उपजिलाधिकारी की अनुपस्थिति में तहसीलदार पी.सी. लाल श्रीवास्तव को सौंपा। सौंपे गए मांग पत्र में पेट्रोलियम पदार्थों में की गई मूल्यवृद्धि को तत्काल वापस लेने, आयकर की सीमा से नीचे जीवन यापन करने वाले परिवारों को 1000 रुपये जीवन यापन भत्ता दिए जाने, कोरोना काल में 5 किग्रा० प्रति यूनिट दिए जा रहे राशन को 10 किग्रा प्रति यूनिट किये जाने के साथ प्रतिमाह 5 किग्रा० चीनी, चना, दाल, तेल, मसाले व साबुन दिए जाने, प्रदेश सरकार द्वारा असंगठित क्षेत्र के मज़दूरों को दिए जा रहे 1000 रुपये मासिक सहायता राशि को प्रदेश के सभी पंजीकृत व अपंजीकृत श्रमिकों को अनिवार्य रूप से दिए जाने, कोविड पीड़ितों का मुफ्त इलाज सुनिश्चित किये जाने के साथ कोविड पीड़ित के निधन के उपरांत परिवार को दस लाख रुपये मुआवजा दिए जाने, सम्पूर्ण स्वास्थ्य प्रणाली का सरकारी करण करने के साथ इसमें व्यापक स्तर पर सुधार कर सभी के लिये निःशुल्क जांच व इलाज सुनिश्चित किये जाने, घोसी- मधुबन मार्ग पर मानिकपुर असना से जामडीह गैस एजेंसी तक छूटे दो किमी० मार्ग को यथाशीघ्र पूरा करने व इंदारा- दोहरीघाट रेलमार्ग पर हो रहे धीमी गति के कार्य को गति प्रदान कर जल्द से जल्द रेल आमान परिवर्तन बहाल करने आदि की मांग की गई है। इस अवसर पर मुख्य रूप से भाकपा के जिला मंत्री रामसोच यादव, माकपा के वीरेंद्र कुमार, भाकपा (माले) के बसन्त कुमार, चीनी मिल डायरेक्टर शेख हिसामुद्दीन, गुफरान अहमद, सुरेश यादव, शकील पांडेय, एकराम प्रधान, सुधाकर यादव, अनीस अहमद, उदय नारायन राय, जयराम यादव, जमील अहमद, अख़्तर खान, वीरेन्द्र चौरसिया, डा० रामजन्म, जगरनाथ चौहान, आमिर अफ़ज़ल, परमहंस यादव, हरिंद्र गोंड़, संजय, गुड्डू  आदि वामपंथी दलों से लोग उपस्थित रहे।