राजेश सिंह
अतरौलिया विधानसभा क्षेत्र के पूर्व मंत्री रहे विभूति निषाद के निधन पर राजकीय सम्मान न मिलने से क्षेत्र में काफी आक्रोश है। क्षेत्रीय विधायक डॉक्टर संग्राम यादव उनके दाह संस्कार कार्यक्रम में सम्मिलित होने पहुंचे तो विधायक ने प्रशासनिक उदासीनता पर जमकर प्रहार किया । उन्होंने कहा कि एक पिछड़े समाज से जुड़े पूर्व मंत्री बिभूति निषाद के निधन पर उन्हें राजकीय सम्मान न देना इस सरकार की पिछ़डो के प्रति इनकी मानसिकता को दर्शाता है। कहा कि पूर्व मंत्री के निधन पर सरकार की मानसिकता खुल गई । शुरू से ही यह सरकार पिछड़ा विरोधी है उन्होंने कहा कि विभूति निषाद जी का पूरा जीवन गांव गरीब किसान की लड़ाई में समर्पित रहा । जनता ने इन्हें चुनकर विधानसभा भेजा और तत्कालीन सरकार में इलेक्ट्रिक मंत्री भी रहे । ऐसे लोगों के निधन होने के बाद भी सरकार सत्ता के मद में चूर इनको कोई सम्मान नहीं दे सकती। उन्होंने बताया की मंत्री जी का एक प्रोटोकॉल निर्धारित होता है जो उन्हें  वह समम्ना मिलना चाहिए। मगर पिछड़ा विरोधी सरकार ने मंत्री जी से उनका यह हक भी छीन लिया। उन्होंने कहा कि मंत्री जी की मृत्यु अतरौलिया क्षेत्र की बहुत बड़ी छति है, उन्होंने कहा कि विधानसभा का सत्र शुरू होने पर इस मुद्दे को पूरी तत्परता तथा जोर शोर से समाजवादी पार्टी उठाएगी । उन्होंने कहा कि पिछड़ों दलितों का अपमान समाजवादी पार्टी बर्दाश्त नहीं करेगी। इस संबंध में उप जिलाधिकारी बुढ़नपुर अरविंद सिंह ने कहा कि कोरोना की वजह से बहुत ब्यापक नही किया गया, नायब तहसीलदार को उनके दाह संस्कार स्थल पर भेजा गया है। इस मौके पर ब्लाक प्रमुख चंद्रशेखर यादव, चन्द्रजीत यादव,लछिराम वर्मा ,शीतला निषाद,आदि लोग मौजूद रहे।