राजेश सिंह
उत्तर प्रदेश सरकार के आदेश के बाद स्वास्थ्य सेवाओं को और बेहतर बनाने के लिए 4 जून से सौ सैया चिकित्सालय की ओपीडी सेवाएं चालू कर दी गई, परंतु डॉक्टर के होते हुए भी यहां मरीजों का अभाव दिख रहा है। मरीज कोरोना संक्रमण के भय से अभी अस्पताल कम पहुंच रहे हैं । वही कुछ सुविधाओं के अभाव में नहीं पहुंच पा रहे हैं। अस्पताल परिसर में एक्सरे, सोनोग्राफी ,ब्लड सैंपल जैसी प्रमुख सुविधाएं अभी नहीं संचालित हो रही है । मेडिकल ऑफिसर अली हसन ने बताया कि कोविड-19 प्रोटोकॉल के गाइडलाइन के अनुसार ही मरीजों को देखा जा रहा है । जिसके लिए एक कोविड-19 हेल्प डेस्क अस्पताल परिसर में स्थापित किया गया है । जहां पर आने वाले मरीजों का थर्मल स्कैनिंग तथा सैनिटाइजिंग कराया जाता है, उसके बाद ही मरीज डॉक्टर के पास पहुंचता है। अभी ओपीडी में मरीजों का आवागमन पहले के मुकाबले बहुत कम है जहां एक दिन में 100 से 150 मरीजों को प्रतिदिन देखा जाता था वहीं इस समय 15 से 20 तक ही मरीज अस्पताल आ रहे हैं । वहीं लोगों में अभी कोरोना संक्रमण का भय बना हुआ है कि अस्पताल जाने से कहीं संक्रमित ना हो जाए । उन्होंने बताया कि अभी हम लोगों द्वारा पूरी तरीके से थर्मल स्कैनिंग व सेनेटाइजर करके ही मरीजों को देखा जा रहा है । आए हुए सभी मरीजों को कॅरोना संक्रमण से बचने के प्रमुख तीन जरूरी बातों को बताया जा रहा है जिसमें मास्क लगाना, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना तथा साबुन से बराबर हाथ धोते रहना बताया गया है। इस तरह से मरीजों को बताते हुए उनका समुचित इलाज किया जा रहा है।