विनय शंकर राय
लालगंज (आजमगढ़) आजमगढ़ वाराणसी मार्ग पर मसीरपुर, लालगंज और देवगांव सहित कई अन्य जगहोंं पर हुए जानलेवा गड्ढों को लेकर आख़िर व्यापारियों का गुस्सा फूट ही पड़ा, मंगलवार को आक्रोशित दर्जनों व्यापारियों ने मिर्जापुर प्रधान प्रतिनिधि अशोक प्रजापति के नेतृत्व में चकिया भगवानपुर तिराहे के समीप सड़क को पूरी तरह जाम कर दिया । इस भीषण गर्मी में चक्का जाम से अफरा-तफरी मच गयी । चक्का जाम के चलते दोनो तरफ़ गाड़ियों कि लंबी लाइन लग गई । जाम की खबर लगते ही प्रशासनिक अमले में हड़कंप मच गया। आनन फ़ानन में मौक़े पर पहुँचे चौकी इंचार्ज अनिल सिंह ने लोगों को समझा बुझा कर किसी प्रकार चक्का जाम को समाप्त कराया। इसके बाद व्यापारियों ने एक ज्ञापन एसडीएम पंकज कुमार श्रीवास्तव को सौंप कर मार्ग को अतिशीघ्र बनवाए जाने की मांग की। जिस पर एसडीएम ने सम्बंधित अधिकारियों से वार्ता कर अतिशीघ्र सड़कों को बनवाए जाने का आश्वासन दिया। देखना है कि अब भी सड़कों का निर्माण होता है या नहीं। बरसात से पूर्व यदि सड़कों का निर्माण नहीं हुआ तो स्थिति और भयावह हो जाएगी। उल्लेखनीय है की लुंबिनी से सारनाथ तक निर्मित हो रहे एनएच 233 का यहां वर्षों से निर्माण कार्य हो रहा है । जिसके कारण उपरोक्त मार्ग पर कार्यदाई संस्था के वाहनों का काफी आवागमन होता है। जिससे इसके दुरुस्त कराए जाने की जिम्मेदारी कार्यदाई संस्था गायत्री प्रोजेक्ट की बनती है। लेकिन वह इस और कोई ध्यान नहीं देता, जिससे लोगों को काफी असुविधा का सामना करना पड़ रहा है। ज्यादा चिल्ल पों करने के बाद जानलेवा गड्ढों में कुछ गिट्टी डालकर इसे पाट दिया जाता है। लेकिन कुछ ही दिनों में सड़क की स्थिति पुनः ज्यों की त्यों हो जाती है । जिसके कारण मार्ग पर चलना पूरी तरह खतरनाक ही नहीं जानलेवा भी हो चुका है। इससे सरकार की छवि भी धूमिल हो रही है। बावजूद इसके इस पर किसी के द्वारा कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है जिससे लोगों को काफी असुविधा ओं का सामना करना पड़ रहा है। इस अवसर अशोक प्रजापति, विजय जायसवाल, चंदन सेठ, उमेश गुप्ता, रूपचंद , अनिल चौहान, जय हिंद गुप्ता, सिंटू राजभर, अनिल गुप्ता, मुकेश सहित अन्य लोग उपस्थित रहे।