केस वापस लेने का दबाव बनाते हुए महिलाओं को पीटा – दुबहर थानाध्यक्ष पर आरोप, रातभी लाकअप पर रखकर मारे-पीटे

बलिया। दुबहर थाना क्षेत्र के एक गांव में पाक्सो एक्ट पीड़िता के घर आरोपी द्वारा हमला करने का मामला प्रकश में आया है। मामले में पीड़ित परिजनों द्वारा जब डायल 112 नंबर पर फोन किया गया तो आरोप है कि 112 नंबर की गाड़ी आरोपियों को उठाकर थाने ले जाने के बजाय उल्टे शिकायत करने वाली के घर के ही चार महिलाओं को दुबहर थाने ले जाकर मारपीटे हैं। इस मामले में पीड़ितजनों ने एसपी से न्याय की गुहार लगाई है।

पीड़ितजनों की मानें तो उनके घर की नाबालिग लड़की के साथ गांव के ही एक व्यक्ति ने कुछ माह पूर्व छेड़खानी किया था, जिसके बाद दुबहर थाना में पाक्सो एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज हुआ तथा आरोपी जेल भी गया था। इधर कुछ दिन पूर्व आरोपी जमानत पर जेल से छूटकर आया और बीते 19 अगस्त की रात लगभग एक बजे अपने तीन दोस्तों के साथ मिलकर एकाएक घर पर हमला बोल दिया तथा घर की महिलाओं को मारते-पीटते हुए केस वापस लेने का दबाव बनाने लगे। आरोप है कि जब पीड़ितों ने डायल 112 नंबर को फोन किया तो पुलिस तो आई लेकिन आरोपियों को ले जाने के बजाय उल्टे शिकायत करने वाली महिलाओं को ही थाने लेकर चले गए और रातभर महिलाओं को जमकर मारापीटा। दूसरे दिन शांतिभंग में चालान भी किया। आरोप यह भी है जब महिलाओं को लेकर जाया गया तो उस वक्त कोई भी महिला पुलिसकर्मी नहीं आई थी। इतना ही नहीं दुबहर थानाध्यक्ष ने खुद महिलाओं को मारते-पीटते हुए केस वापस लेने का दबाव बनाने लगे।

रिपोर्ट राजकुमार सिंह ब्यूरो चीफ बलिया उत्तर प्रदेश।