अपने बिछड़े हुए बेटे से मिलते ही मां की भर आई आंखें

हवाई जहाज से चाइल्डलाइन ने बच्चे को पहुंचाया घर

प्रतापगढ़।  अगर आपका बच्चा आपको अपने साथ हुई किसी घटना या किसी जान-पहचान वाले व्यक्ति के व्यवहार के बारे में कोई बात कहता है, तो उसे डांटने-फटकारने की जगह उसकी बात सुनकर अमल करने की जरूरत है। प्रतापगढ़ जनपद में महिला एवं बाल विकास मंत्रालय भारत सरकार के सहयोग से चाइल्ड लाइन 1098 का संचालन तरुण चेतना द्वारा किया जा रहा है।
1098 बच्चों के संरक्षण एवं अधिकार पर 24 घंटे कार्य करती हैं एक बच्चा चिलबिला आदर्श ढाबा पर रोता हुआ पाया गया। जिसकी सूचना चाइल्ड हेल्पलाइन 1098 द्वारा प्राप्त हुआ बच्चे की काउंसलिंग से पता चला कि बच्चे का नाम कमल हुसैन है (काल्पनिक नाम ) उम्र लगभग 14 वर्ष है जो त्रिपुरा राज्य के सिपही जिले का रहने वाला है यह देश के बॉर्डर पर स्थित है। बच्चा 12 अगस्त शाम को मां की डांट से नाराज़ होकर घर से निकल गया था। काफी खोजबीन के बाद भी पता नहीं चल सका। बच्चा भटकता हुआ अगरतला रेलवे स्टेशन से ट्रेन पकड़कर कोलकाता आ गया कोलकाता से ट्रेन पकड़कर लखनऊ
और लखनऊ से प्रतापगढ़ आ गया था।
परिजनों द्वारा लोकल थाने में बच्चे की गुमशुदगी रिपोर्ट दर्ज कराई थी बच्चे की मां का रो रोकर बुरा हाल था मां के रोने की आवाज सुनकर पड़ोसी का भी कलेजा फट जाता था।
पिता अरब कंट्री में गाड़ी चलाता था। परिजनों का बुरा हाल था पर बच्चे का कहीं पता नहीं चल रहा था। बच्चा लगभग 15 दिन से गायब था चाइल्डलाइन प्रतापगढ़ की टीम ने बच्चे के पिता के पास फोन किया। बच्चा आपका हमारे पास सुरक्षित है तो पिता की खुशी देखने लायक थी वह फुले नहीं समा रहा था। परिवार में खुशी की लहर दौड उठी दिल में दिवाली के पटाखे फूटने लगे जैसे ईद का चांद नजर आ गया हो। चाइल्डलाइन टीम ने बच्ची को नगर कोतवाली में जी.डी. पर अंकित कराते हुए मेडिकल रिपोर्ट के साथ प्रतापगढ़ बाल न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत किया। बाल न्याय पीठ ने बच्चे की सर्वोच्च हित को देखते हुए उसके घर भेजने का निर्णय लिया इसकी जिम्मेदारी चाइल्डलाइन प्रतापगढ़ को पीठ द्वारा दिया गया।
चाइल्डलाइन प्रतापगढ़ की टीम ने अपनी जिम्मेदारी को बखूबी से निभाते हुए बच्चे को लखनऊ से अगरतला त्रिपुरा राज्य हवाई जहाज द्वारा भेजा गया है। अपने कलेजे के टुकड़े से मिलते हैं मां फूट-फूट कर रोने लगी उन्होंने कहा आज चाइल्डलाइन ने हमें दोबारा जिंदगी दिया है। चाइल्ड लाइन के प्रति परिवार के सभी लोगों ने आभार प्रकट किया गांव एवं परिवार में मानो खुशी की लहर दौड़ पड़ी। विजय पाठक संपादक, पीआई  न्यूज़ प्रतापगढ़