छात्र जहर खाने से लखनऊ में हुई मौत, एमबीए की पढ़ाई कर रहा था छात्र
पट्टी।
प्रदेश की राजधानी लखनऊ में रहकर एमबीए की पढ़ाई करने वाले पट्टी के छात्र की जहर खाने से मौत हो गई । आसपास के लोग उसे थोड़ी देर बाद हालत बिगड़ने पर उसे अस्पताल ले गए , लेकिन इलाज के दौरान छात्र की मौत हो गई । मौत की सूचना जब परिजनों को मिली तो रोते बिलखते परिजन लखनऊ पहुंचे।
पट्टी तहसील क्षेत्र के कंधई थाना अंतर्गत बिबिया करनपुर गांव के रहने वाले संतोष शुक्ला के दो बेटों में छोटा बेटा उज्जवल शुक्ला( 22) लखनऊ में रहकर एमबीए की पढ़ाई कर रहा था । एक महीने पहले वह घर आया था । उसके बाद वह फिर से लखनऊ चला गया । किराए पर कमरा लेकर वह रहता था ।
शुक्रवार सुबह वह अपने कमरे में अकेले था, तभी अज्ञात कारणों और संदिग्ध परिस्थितियों में उसने जहर निगल लिया । कुछ देर बाद उसकी तबीयत खराब हो गई जिस पर वह चीखने चिल्लाने लगा । आसपास के लोग उसके चीखने की आवाज सुनकर कमरे में घुसे तो देखा कि उज्जवल की तबीयत खराब हो चुकी थी । वह चीख रहा था ।
आसपास के लोगो को उसने जहर खाने की बात बताई, तब उसे लोग एंबुलेंस की सहायता से अस्पताल ले गए । शुक्रवार की देर शाम उज्जवल की अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई । मौत की सूचना के बाद परिजन रोते-बिलखते हुए लखनऊ के लिए रवाना हो गए।

दो भाइयों में सबसे दुलारा बेटा था उज्ज्वल

संतोष कुमार शुक्ला के दो बेटों में उज्जवल छोटा बेटा था। छोटा होने के नाते और घर में सबसे दुलारा बेटा भी था । उसकी एक बहन भी है । पिता संतोष शुक्ला घर पर रहकर खेती-बाड़ी करते हैं । वह किसी तरह अपने बेटे को पढ़ा रहे थे। जहर खाने की बात पर हरकोई आश्चर्य जता रहा है । वह किन कारणों से जहर खाया, इसे कोई बता नहीं पा रहा है । अपने बेटे की मौत के बाद जहां संतोष बदहवास हो गए वहीं उसके भाई और बहन के आंसू नहीं थम रहे हैं।