रिपोर्ट -बरमेशवर राय गाजीपुर

 

 

भांवरकोल । जिले के वाणिज्य कर विभाग की कारस्तानी को लेकर क्षेत्र के रेवसड़ा गांव निवासी श्यामलाल राय ने मुख्यमंत्री को शिकायत पोर्टल पर शिकायत पत्र भेजकर न्याय की गुहार लगाई है। बताया जाता है कि श्यामलाल रेवतीपुर में वर्ष 20 16 में रेवतीपुर गांव में कोयले की दुकान के लिए वाणिज्य विभाग में रजिस्ट्रेशन के लिए आवेदन दिया था। विभाग द्वारा रजिस्ट्रेशन कर किया गया लेकिन इसकी संबंधित को सूचना नहीं दी गई। जबकि इस रजिस्ट्रेशन नंबर पर विभाग द्वारा धांधली कर ट्रकों का चालान काटा गया इतना ही नहीं इसकी रजिस्ट्रेशन करता को टीन नंम्बर जारी कर दिया गया। इस संबंध में श्यामलाल ने बताया कि जब उसे विभाग की साजिश के तहत कोयला के गाड़ियों का बिल का उसके टीन नंबर पर कोयला की गाड़ियों का बिल काटे जाने की जानकारी होने से पैर तले जमीन खिसक गई। सूचना के बाद जब वह विभाग में पहुंचा और अपने मूल रजिस्ट्रेशन की मांग की तो मौके पर मौजूद अधिकारियों द्वारा द्वारा मूल प्रति गायब होने की सूचना दी गई। इतना ही नहीं विभाग द्वारा रजिस्ट्रेशन पर फार्म 26 अगस्त 2016 को निकाल कर उसके खिलाफ आरसी जारी कर दी गई । जबकि उक्त व्यवसाय से श्यामलाल राय का कोई लेना-देना नहीं है। इस संबंध में उन्होंने जिलाधिकारी को शिकायत पत्र भेजकर मामले की जांच की मांग की थी तथा विभाग द्वारा जारी अवैध आर सी को निरस्त करने की मांग की गई थी। जिस पर आज तक कोई कार्रवाई नहीं की गई ।भुक्तभोगी विभाग का चक्कर लगाते लगाते थक सा गया है और से आज तक न्याय नहीं मिला। आखिरकार निराश श्यामलाल राय ने उसके खिलाफ विभागीय भ्रष्टाचार की खिलाफ न्यायोचित जांच के लिए मुख्यमंत्री को पत्र भेजकर कार्रवाई की की मांग की है।