रिपोर्ट -बरमेशवर राय गाजीपुर

 

 

 

 

गाजीपुर। एम0ए0एच0 इण्टर कालेज गाजीपुर में चल रहे ग्रीष्म्कालीन शिविर 2022 के तीसरे दिन शुक्रवार को

‘योग, स्वास्थ्य एवं पोषण गोष्ठी‘ पर कार्यक्रम किया गया। कार्यक्रम की शुरूआत राजिक हसन, अजय बिन्द व सुहैब कमर ने स्वागत गीत से किया। मुख्य अतिथि जनपद के चर्चित चिकित्सक डाॅ0 राजेश सिंह तथा विशिष्ट अतिथि होमियोपैथिक विशेषज्ञ डाॅ0 विजेन्द्र प्रताप सिंह व इं0 संजीव सिंह थे। छात्रा सोनम यादव ने ‘मानो तो गंगा माँ हूँ न मानो तो बहता पानी‘ गीत गाकर सबका मन मोह लिया। मुख्य अतिथि डाॅ0 राजेश सिंह ने कहा कि टीचर्स और पैरेन्ट्स छात्रों के विकास की रीढ़ होते हैं। 15 वर्ष से अधिक के उम्र के बच्चों की बातों को घर व समाज में महत्त्व देना चाहिए जिससे बच्चे का सर्वांगीण विकास होगा। विद्यालय व घर में शिक्षकों व अभिभावकों को खुलकर यौन शिक्षा पर चर्चा करना चाहिए जिससे ज्ञानाभाव में होने वाली समस्याओं से बचा जा सकता है। हमें हमेशा सुख और दुःख में समभाव्य रहना चाहिए। डाॅ0 राजेश सिंह ने मेडिकल शिक्षा, स्वास्थ्य व पोषण से सम्बिन्धित छात्र-छात्राओं द्वारा पूछे गये सवालों बहुत ही सरल शब्दों उत्तर दिया। कार्यक्रम में इं0 संजीव गुप्त ने कहा कि योग हमारे जीवन में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाती है। श्री गुप्त ने बताया कि श्रीमदभग्वद् गीता में जीवन के समस्त प्रश्नों का उत्तर निहीत है। हमें हमेशा सुख और दुःख में समभाव्य रहना चाहिए तथा सकारात्मक सोच बनाये रहना चाहिए। डाॅ0 विजेन्द्र प्रताप सिंह ने कहा कि हमें शरीरिक, मानसिक व सामाजिक रूप से स्वस्थ होना जरूरी है। हम तनाव मुक्त रहकर कई बिमारियों से छुटकारा पा सकते हैं। डाॅ0 विजेन्द्र ने होमियोपैथिक चिकित्सा में उपलब्ध कई रोगों का इलाज भी बताया। अन्त में कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए कालेज क प्रधानाचार्य मो0 खालिद अमीर ने अपने सम्बेधन में कहा कि योग व चिकित्सकीय ज्ञान से छात्र-छात्राओं में ऊर्जा भर जाती है जिससे वे समाज के सुख का कारण बनते हैं। कार्यक्रम के इस अवसर पर शाहजहाँ खाँ, मनोज कुमार, आरिफ खाँ, सुनील प्रजापति, अमरजीत बिन्द, मुर्शीद अली, आकाश सिंह, विनोद यादव, शाहाब शमीम, अबुल कैश, डाॅ0 लईक अहमद सिद्दीकी आदि लोग मौजूद थे। इस कार्यक्रम का संचालन शम्स तबरेज खाँ ने किया।