महिला स्वास्थ्य कर्मी से मरीज परेशान मरीजों के साथ होती है अभद्रता

 

 

महिला स्वास्थ्य कर्मी सीएच ओ आयुष चिकित्सक एल टी के रवैए से परेशान

 

बाबा बेलखरनाथ,प्रतापगढ़।कहने को तो स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी और डॉक्टर धरती के भगवान कहे जाते हैं लेकिन जब यही चिकित्सक और अन्य स्वास्थ्य कर्मी क्षेत्रीय लोगों व मरीजों के साथ अभद्र व्यवहार करते हैं तब मामला समझ के परे हो जाता है। ऐसा ही कुछ एक मामला सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बाबा बेलखरनाथ में संविदा पर तैनात आयुष चिकित्सक महिला डॉ उर्मिला गुप्ता सी एच ओ पूजा विश्वकर्मा ठेकेदारी पर काम कर रही एलटी रेखा पाल का रवैया बेहद संवेदनहीन है। मरीजों के साथ जिस तरह से अभद्र भाषा के साथ-साथ उन्हें धमकाया जाता है और मरीजों की बात सुनने के बजाय वहां से भगा देती है। संविदा पर तैनात सी एच ओ पूजा विश्वकर्मा का विवादों से पुराना नाता है लौवार गांव में वैक्सीनेशन के दौरान लोगों से अभद्रता करने को लेकर स्वास्थ्य कर्मियों से कहासुनी हुई थी उसके बाद खभोर गांव में वैक्सीनेशन के दौरान साथ ही साथ रुदापुर गांव में टीकाकरण के दौरान गांव की महिलाओं और बुजुर्गों के साथ अभद्र भाषा का प्रयोग करते हुए वैक्सिन न लगाने तक की धमकी दे डाली इस मामले को लेकर ग्राम प्रधान सीमा विश्वकर्मा के प्रति प्रवक्ता श्याम लाल विश्वकर्मा ने लिखित शिकायत करते हुए सी एच ओ के खिलाफ कार्रवाई किए जाने की मांग की है वहीं दूसरी तरफ महिला आयुष चिकित्सक डॉ उर्मिला गुप्ता एलोपैथी दवाओं से अपने आवास पर इलाज करती हैं उसके बाद मोटी रकम लेती है। महिला आयुष चिकित्सक अपने आवास पर दवाखाना खोलकर आशाओं के माध्यम से एलोपैथीक

दवाओं से रोगियों का इलाज कर रही हैं आयुष विभाग द्वारा जारी गाइडलाइंस का धता बताते हुए बखूबी एलोपैथी दवा से इलाज कर रही हैं ठेकेदारी पर तैनात महिला एलटी रेखा पाल टाइफाइड बुखार हिमोग्लोबिन मलेरिया चेकअप न करने के बजाए मरीजो उन्हें बैरंग वापस कर देती है। उक्त महिला स्वास्थ्य कर्मी मरीजों और बुजुर्गों को इस कदर डाडती है की जैसे कोई उच्च अधिकारी अपने अधिनस्थ को डांटता हो।इस मामले में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के अधिक्षक डा. आरिफ हुसैन से बात की गई तो उन्होंने कहा कि शिकायत मिली है जांच कराई जा रही है इन तीनों के खिलाफ कार्यवाही की जायेगी।