चाइल्डलाइन ने ट्रैफिक पुलिस के साथ आयोजित की समन्वय कार्यशाला

 

भूले-बिसरे बच्चों की सूचना देने में यातायात पुलिस की भूमिका महत्वपूर्ण -सीओ0 सिटी अभय पांडेय

 

बेसहारा बच्चों की मददगार बने ट्रैफिक पुलिस- नसीम अंसारी

 

प्रतापगढ़!आज चाइल्डलाइन-1098 द्वारा यातायात पुलिस के साथ समन्वयन कार्यशाला का आयोजन किया गया, जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में सी.ओ. सिटी अभय कुमार पाण्डेय ने कहा कि बच्चे देश वा समाज के युग निर्माता है। जिनकी समुचित सुरक्षा पालन-पोषण व शिक्षा एंव विकास का दायित्व भी राष्ट्र और समुदाय का होता है। इसलिए बच्चों की मदद के लिए ट्रैफिक पुलिस भी आगे आएं। इस अवसर पर चाइल्डलाइन के निदेशक नसीम अंसारी ने समन्वय कार्यशाला के उद्देश्य पर प्रकाश डालते हुए कहा कि यातायात पुलिस हर मोड़ व चौराहे पर मुस्तैद रहती है। जब भी कोई असहाय बच्चा इन्हें दिखाई दे उसकी मदद के लिए चाइल्डलाइन 1098 को जरूर सूचित करें, ताकि तुरंत उस बच्चे की मदद किया जा सके। इसी क्रम में प्रतापगढ़ यातायात प्रभारी नरेन्द्र सिंह ने उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि बच्चों की सुरक्षा करना हम सबकी जिम्मेदारी है। हर चौराहे पर दिन-रात खड़े होकर जनमानस के कल्याण के लिए ट्रैफिक पुलिस कार्य करती है। हमारी नजर अब नाबालिक असहाय बच्चों पर भी होगी ताकि बच्चों का अधिकार सुनिश्चित हो सके। इसी क्रम में

एंटी ह्यूमन ट्रैफकिंग यूनिट के प्रभारी सुरेश मिश्रा ने कहा कि बाल मजदूरी व भिक्षावृत्ति दोनों देश के लिए अभिशाप है, इसकी रोकथाम के लिए चाइल्ड हेल्पलाइन 1098 को सूचित करें ताकि उस बच्चे का अधिकार सुरक्षित किया जा सके।

इस कार्यक्रम का संचालन हकीम अंसारी ने किया।चाइल्डलाइन के केंद्र समन्वयक शुभा पांडे ने लोगों के प्रति आभार प्रकट किए।इस अवसर पर ट्रैफिक पुलिस रमेश मिश्रा, चाइल्डलाइन से सोनिया गुप्ता, रीना यादव, अभय राज, निशा परवीन, बीनम विश्वकर्मा, आदि लोगों की सक्रिय भूमिका रही।