सिवान के सिसवन में सरयू के जलस्तर में आई कमी

सिवान । प्रखंड में पिछले पांच दिनों से सरयू के जलस्तर में लगातार बढ़ोतरी दर्ज की जा रही थी, लेकिन गुरुवार को नदी के जलस्तर में हल्की कमी दर्ज की गई, इससे लोगों ने राहत की सांस ली, लेकिन अभी भी खतरा बरकरार है। केंद्रीय जल आयोग के पदाधिकारी रामनरेश पांडेय ने बताया कि सरयू नदी का जलस्तर गंगपुर सिसवन में बुधवार की दोपहर 3 बजे 56.390 मी. रिकार्ड किया गया, जबकि यहां गुरुवार की दोपहर नदी का जलस्तर 56.270 मी. था। नदी खतरे के निशान से महज .734 सेमी कम है। यहां नदी का डेंजर प्वाइंट 57.04 मी. है। वहीं नदी का जलस्तर गंगपुर में खतरे के निशान के बिल्कुल करीब है। नदी के पानी ने तटवर्ती इलाकों को छूना शुरू कर दिया है। इससे कटाव की समस्या उत्पन्न हो सकती है।कचनार, साईंपुर, ग्यासपुर, गंगपुर सिसवन शुभहाता आदि इलाकों में बाढ़ का खतरा मंडरा रहा है। नदी के बढ़ते जलस्तर को लेकर तटवर्ती क्षेत्र में रहनेवाले ग्रामीण चितित हैं। साईंपुर में 120 मीटर में सरयू नदी लगातार कटाव कर रही हैं, इससे ग्रामीणों दहशत में है। इसको लेकर बाढ़ नियंत्रण विभाग के अधिकारी भी अलर्ट हैं। साईंपुर मे कटाव को रोकने के लिए विभाग तत्पर तो दिखाई दे रहा है लेकिन सफलता नहीं मिल रही है। मजदूर लगातार कटाव रोकने के लिए मिट्टी भरी बोरी नदी किनारे डाल रहे हैं। इधर दाहा नदी के जलस्तर में भी बढ़ोतरी हो रही है, इससे किसानों की चिता बढ़ने लगी है।