मीडिया कर्मियों से अभद्रता व जाति सूचक गालियां देने से मीडिया कर्मियों में फैला रोष

 

पत्रकार एसोसिएशन के दर्जनों कार्यकर्ताओं ने थानेदार को ज्ञापन सौंपा की कार्रवाई की मांग

 

इंदरगढ़! यह बात किसी से नहीं छपी है कि उत्तर प्रदेश में अपराध सीमा पार करता नजर आ रहा है! कहीं ना कहीं सच्चाई की आवाज उठाने वालों को या तो झूठे मुकदमों में जेल भेज दिया जाता है या फिर उनके साथ मारपीट की जाती है! जबकि उत्तर प्रदेश के मुखिया योगी आदित्यनाथ व माननीय न्यायालय तक के आदेश जारी हो चुके हैं कि देश के लोकतंत्र के चौथे स्तंभ पर हमला करने वालों को किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जाएगा लेकिन दबंगई के आगे माननीय के आदेश केवल कागज तक सीमित रह जाते हैं!

 

इसी क्रम पत्रकार सहायता एसोसिएशन के जिला अध्यक्ष मनीष दीक्षित के नेतृत्व में व संरक्षक रईस खान के अगुवाई में दर्जनों पत्रकारों ने इंदरगढ़ थाने में पहुंचकर प्राइवेट इनाया हॉस्पिटल के संचालक के खिलाफ एक शिकायती पत्र देकर न्याय की मांग की शिकायती पत्र देते हुए संगठन के कन्नौज जिला अध्यक्ष ने बताया की हमारे पत्रकार साथी चंचल त्रिपाठी व करण कुमार समाचार कवरेज करने के लिए जा रहे थे धूप अधिक होने के कारण इंदरगढ़ थाना क्षेत्र में तहापुर रोड के समीप एक अस्पताल के पास अपनी बाइक खड़ी कर आराम करने लगे थे इसी उपरांत अस्पताल के कुछ कर्मचारी निकल कर बाहर आए और अस्पताल के अंदर जाकर कहा की दो पत्रकार अस्पताल के बाहर खड़े हुए हैं इसी उपरांत अस्पताल का संचालक सहित कई कर्मचारी बाहर निकल कर आए और पत्रकारों से उनके नाम पूछे नाम बताने के उपरांत जातिसूचक गालियां देते हुए अभद्रता व्यवहार करने लगे पत्रकारों ने जब विरोध किया तो उनका कैमरा छीन कर रोड पर फेंक दिया दोबारा इधर दिखने पर जान से मारने की धमकी दी पीड़ित पत्रकारों ने घटना की जानकारी संगठन के कार्यकर्ताओं को देने पर आज आधा सैकड़ा से अधिक पत्रकार साथियों ने थाने पहुंचकर SO को प्रार्थना पत्र देकर उक्त लोगों के विरुद्ध कानूनी कार्रवाई की मांग की इस मौके पर कन्नौज जिला संरक्षक कुंवर देवेंद्र सिंह, जिला उपाध्यक्ष राघवेंद्र सिंह, मुनीश सिंह, आलम कुरैशी, दिनेश भदोरिया, हैदर अली, मुशर्रत अली, संदीप कुमार, अभय दीक्षित, अमित ठाकुर, नवीन दुबे आदि लोग मौजूद रहे

रिपोर्ट राजीव दुबे कन्नौज