कलश यात्रा के साथ श्रीमद्भागवत कथा का हुआ शुभारंभ

 

प्रतापगढ़ : सांगीपुर स्थित कमला निवास बसुआपुर लक्ष्मीकांतगंज प्रतापगढ़ द्वारा आयोजित सात दिवसीय श्रीमद भागवत कथा एवं ज्ञान यज्ञ का शुभारंभ शुक्रवार को भव्य कलश शोभा यात्रा के साथ हुआ। बसुआपुर लक्ष्मीकांतगंज में भक्तिमय माहौल में लोगों ने जगह-जगह कलश शोभा यात्रा का स्वागत किया।शाम को व्यास मंच के पूजन के उपरांत प्रथम दिन कथा के माध्यम से श्रीमद भागवत के महात्मा की विस्तार से चर्चा की गई। सुबह ग्यारह बजे बसुआपुर के विभिन्न मंदिरों से होते हुए कलश शोभा यात्रा निकाली गई।आस-पास के धार्मिक स्थलों से होते हुए कार्यक्रम स्थल पर पहुंचकर विधिवत पूजन किया गया। इस बीच जगह-जगह लोगों ने स्वागत किया। बैंडबाजा के बीच नारे लगाये गये।जयघोष से पूरा परिक्षेत्र गुंजायमान हो गया। सैकड़ों पीत और गेरुआ वस्त्रधारी महिलाओं एवं कन्याओं ने मंगल गीत गाते हुए कलश धारण के परिभ्रमण किया।सायंकालीन कार्यक्रम में व्यास मंच का पूजन कर कथावाचक पंडित शेषधर मिश्र अनुरागी जी का माल्यार्पण कर स्वागत किया गया। कार्यक्रम के प्रथम दिन श्रीमद भागवत कथा के महात्म की विस्तार से चर्चा करते हुए श्री अनुरागी ने कहा कि मानव मन का मंथन कर आनंद की अनुभूति कराता है श्रीमदभागवत महापुराण। उन्होंने कहा कि भागवत शास्त्र का आदर्श दिव्य है। घर में रहते हुए ईश्वर की प्राप्ति का मार्ग बताता है भागवत कथा। कथा का अमृत पीने से जन्म जन्मांतर के पापों का नाश होता है और जीव पवित्र होता है। इस अवसर पर प्रमुख रुप से मुख्य यजमान कमला देवी, संयोजक सुरेंद्र मिश्र व धर्मेंद्र मिश्र, कौशल मिश्र, कमल मिश्र, सिद्धान्त मिश्र, वेदान्त मिश्र, क्षमा शुक्ला, प्रीति शुक्ला, प्रिया मिश्रा, समीक्षा मिश्र, सुरेंद्र सिंह, हर्षित मिश्र, अभिनव मिश्र इत्यादि प्रमुख रूप से मौजूद रहे।