अब बिहार के शहरों में भी घर पर ही होगा टीकाकरण, सीएम नीतीश कुमार ने टीका एक्सप्रेस को किया रवाना

पटना. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गुरुवार को शहरों में टीकाकरण अभियान में तेजी लाने के लिए 121 टीका एक्सप्रेसों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया. एक अणे मार्ग स्थित संकल्प सभाकक्ष से वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से आयोजित इस कार्यक्रम के दौरान उन्होंने कोरोना की आरटीपीसीआर जांच कराने के लिए चार अतिरिक्त मोबाइल टेस्टिंग वैन को भी रवाना किया.इस मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा कि आगे आने वाली चुनौती से निबटने के लिए भी पूरी तैयारी की गयी है. शहरी क्षेत्रों के लिए 121 टीका एक्सप्रेस चलाकर लोगों का वैक्सीनेशन कराया जायेगा. इन टीका एक्सप्रेसों की मदद से लोगों को टीका लेने में सहूलियत होगी. लोगों को यह सुविधा उनके घर पर ही उपलब्ध होगी और वहां उनका पूरा डिटेल लेकर रिकॉर्ड में रखा जायेगा. साथ ही टीके के दूसरे डोज की तारीख की जानकारी दी जायेगी और दोबारा टीका भी लगाया जायेगा.

 

सीएम ने कहा कि पहले से ही गांवों में 118 टीका एक्सप्रेस चलाकर लोगों का वैक्सीनेशन कराया जा रहा है. मोबाइल टेस्टिंग वैन की शुरुआत पहले की जा चुकी है. राज्य में टेस्टिंग की संख्या ज्यादा बढ़ायी जा रही है. इसके लिए आरटीपीसीआर टेस्टिंग के लिए चार अतिरिक्त चलंत वैन को भी रवाना किया गया है.मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार का उदेश्य अधिक-से-अधिक लोगों का टीकाकरण कराना है. इसे लेकर सभी स्तर पर काम किये जा रहे हैं. केंद्र के स्तर से भी टीके की उपलब्धता को लेकर सहमति दी गयी है. केंद्र सरकार की गाइडलाइन का पालन करते हुए टीकाकरण तेजी से किया जा रहा है. उन्होंने शहरों के लिए टीका एक्सप्रेस की शुरुआत पर खुशी जतायी और इसके लिए स्वास्थ्य विभाग को विशेष तौर पर बधाईजिलों के प्रभारी मंत्रियों से फीडबैक लेकर उठाये जा रहे जरूरी कदम

मुख्यमंत्री ने कहा कि जिलों के प्रभारी मंत्रियों से जिले का फीडबैक लिया जाता है. इस फीडबैक के आधार पर सभी जरूरी कदम उठाये जा रहे हैं. लोगों को हर तरह की सुविधा देने के लिए हर तरह के प्रयास किये जा रहे हैं. उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग के साथ-साथ सभी संबंधित विभागों के अधिकारी मुस्तैदी से लगे हुए हैं.संक्रमण दर घट रही, फिर भी सचेत रहना जरूरी

सीएम ने कहा कि कोरोना संक्रमण की दर घट रही है. फिर भी सभी लोगों को सचेत रहना है. आगे आने वाली चुनौती से निबटने के लिए भी पूरी तैयारी की गयी है. मुख्यमंत्री ने लोगों से अपील की कि अगर कोई विचार या सुझाव आता है, तो उस पर जरूरी कदम उठायेंगे.

 

कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव दीपक कुमार व चंचल कुमार, सचिव अनुपम कुमार उपस्थित थे, जबकि वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद व रेणु देवी, स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय, स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव प्रत्यय अमृत समेत अन्य अधिकारी मौजूद थे.