पत्रकारों के संवैधानिक दर्जा मिलने तक संघर्ष जारी रहेगा- विश्वामित्र

 

*इमरान अंसारी देवरिया*

 

*खुखुन्दू (देवरिया)*

 

पत्रकारों के संवैधानिक दर्जा मिलने तक संघर्ष जारी रहेगा। कहने के लिए हम लोकतंत्र के चौथे स्तंभ हैं, समाज का आईना है, समाज की अच्छी बुरी खबरों को तरसते हैं, जाड़ा, गर्मी, बरसात, ओला पत्थर पड़े हर परिस्थिति में समाचारों को एकत्र कर शासन, प्रशासन और आम जनता के बीच पहुंचाने का कार्य करते हैं। बावजूद हम लोग को संवैधानिक दर्जा नहीं मिला। उक्त बातें पत्रकार एकता समन्वय समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष विश्वामित्र मिश्रा ने कि प्रेस दिवस के अवसर पर जनपद देवरिया के खुखुन्दू स्थित पत्रकार एकता समन्वय समिति  के कार्यालय पर पत्रकारों की वर्चुअल बैठक को संबोधित कर रहे थे।

इस मौके पर राष्ट्रीय राष्ट्रीय सलाहकार श्रीराम शर्मा ने कहा कि देश के सभी पत्रकारों को एकजुट होकर इसको चरण बद्ध तरीके से सरकार से मांग करने की जरूरत है। राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी लियाकत अहमद ने कहा कि पत्रकार समाज का आईना जरूर कहा जाता है, लेकिन इसके विपरीत जनहित में कुछ कार्य करना चाहता है, कुछ समाचार प्रसारित करना चाहता है तो प्रशासनिक तौर पर संबंधित पत्रकार के ऊपर उत्पीड़न किया जाता है। बारी बारी से लगभग सभी पत्रकारों के साथ यही हाल है, इसलिए पत्रकारों को अपने हक की लड़ाई के लिए एकजुट होने की जरूरत है।  इस मौके पर जिला प्रभारी अनवर अंसारी, जिला उपाध्यक्ष प्रशासन प्रभाकर मणि त्रिपाठी, आशीष बर्नवाल,  डॉक्टर शिव कुमार यादव, डॉक्टर तनवीर आलम, रियासत अली आदि पत्रकारों ने बर्चुवल बैठक का हिस्सा बने।