ऑटो मोबाइल्स में चोरी के प्रयास में लहूलुहान होने के बावजूद खाकी के हाथ खाली…

लालगंज प्रतापगढ़। नगर के नेशनल हाइवे के लखनऊ वाराणसी पर रोडवेज बस स्टेशन के समीप ऑटो मोबाइल्स मे हुई चोरी के प्रयास की घटना में सिपाही पर गोलीबारी मे दूसरे दिन पुलिस के हाथ खाली नजर आये है। वही घायल सिपाही राजकिशोर की अभी भी एसआरएन मे स्थिति नाजुक बनी बताई जाती है। हालांकि घटना को लेकर कोतवाली पुलिस के साथ जिले की एसओजी तथा स्वाट टीम खुलासे के लिए दिन रात हाथ पैर चला रही है। नगर में हुई खाकी के लिए चुनौतीपूर्ण घटना की गंभीरता को देखते हुए सीओ स्वयं इसकी मानीटरिंग मे भी जुटे बताए जाते है। इधर आटो मोबाइल्स के संचालक विनय जायसवाल के अधिवक्ता होने के नाते घटना को लेकर शनिवार को साथी वकीलों मे भी आक्रोश देखा गया। वकीलों ने एसडीएम से मिलकर घटना की निंदा करते हुए ज्ञापन देकर शीघ्र खुलासे की मांग की है। वहीं नगर मुख्यालय पर आनंद आटो मोबाइल्स पर हुई इस घटना की आंच खाकी पर खुद उसके सिपाही के गोली से जख्मी होने को लेकर तप रही है। व्यापारिक कारोबार से जुडे लोगों मे भी अंदर ही अंदर घटना को लेकर असंतोष की चिंगारी सुलग भी रही है। हालांकि सीओ जगमोहन का कहना है एक दो दिन में इस घटना का खुलासा कर लिया जाएगा। बकौल सीओ घटना को लेकर पंाच संदिग्ध लोगों से पुलिसिया पूछताछ जारी है। बतादें गुरूवार की रात नगर के आनंद आटो मोबाइल्स में बदमाश चोरी की घटना को अंजाम देने मेन गेट के साथ शटर का ताला तोडकर घुस गये थे। दो बदमाश सीसी कैमरे मे बाहर रेकी करते भी नजर आये है। घटना की सूचना मिलते ही डॉयल हंडेªड मे तैनात पीआरवी सिपाही राजकिशोर चौहान होमगार्ड संजय के साथ आननफानन मे बाइक से पहुंच गया था। सिपाही साहसिक ढंग से बदमाशों को ललकारते हुए शोरूम मे घुस गया। तभी उसकी टॉर्च की रोशनी से घबराये बदमाशो ने उस पर फायर झोंक दिया। घायल सिपाही को इलाज के लिए एसआरएन प्रयागराज मे भर्ती कराया गया है। इधर पुलिस की एक टीम व्यवसाई का सीसी कैमरे का सिस्टम अभी तक अपने पास जांच के नाम पर रखे हुये है। पुलिस सीसी कैमरे मे कैद तस्वीर को आम नही होने देना चाहती। दूसरे दिन भी ऑटो मोबाइल्स में ताला लगा दिखा जबकि मकान के अंदर व्यवसाई तथा उसका परिवार दहशत मे देखा गया। नगर के पास इलाके मे इतनी बडी दुस्साहसिक घटना को लेकर बाजार में भी भय व दहशत का माहौल शनिवार को भी बना दिखा। घटना खाकी के लिए न सिर्फ खुलासे का अहम बिंदु है बल्कि सिपाही पर गोली को लेकर यह घटना उसके रसूख की बहाली को भी अभी चुनौती दिये हुए है।ऑटो मोबाइल्स में चोरी के प्रयास में लहूलुहान होने के बावजूद खाकी के हाथ खाली…
लालगंज प्रतापगढ़। नगर के नेशनल हाइवे के लखनऊ वाराणसी पर रोडवेज बस स्टेशन के समीप ऑटो मोबाइल्स मे हुई चोरी के प्रयास की घटना में सिपाही पर गोलीबारी मे दूसरे दिन पुलिस के हाथ खाली नजर आये है। वही घायल सिपाही राजकिशोर की अभी भी एसआरएन मे स्थिति नाजुक बनी बताई जाती है। हालांकि घटना को लेकर कोतवाली पुलिस के साथ जिले की एसओजी तथा स्वाट टीम खुलासे के लिए दिन रात हाथ पैर चला रही है। नगर में हुई खाकी के लिए चुनौतीपूर्ण घटना की गंभीरता को देखते हुए सीओ स्वयं इसकी मानीटरिंग मे भी जुटे बताए जाते है। इधर आटो मोबाइल्स के संचालक विनय जायसवाल के अधिवक्ता होने के नाते घटना को लेकर शनिवार को साथी वकीलों मे भी आक्रोश देखा गया। वकीलों ने एसडीएम से मिलकर घटना की निंदा करते हुए ज्ञापन देकर शीघ्र खुलासे की मांग की है। वहीं नगर मुख्यालय पर आनंद आटो मोबाइल्स पर हुई इस घटना की आंच खाकी पर खुद उसके सिपाही के गोली से जख्मी होने को लेकर तप रही है। व्यापारिक कारोबार से जुडे लोगों मे भी अंदर ही अंदर घटना को लेकर असंतोष की चिंगारी सुलग भी रही है। हालांकि सीओ जगमोहन का कहना है एक दो दिन में इस घटना का खुलासा कर लिया जाएगा। बकौल सीओ घटना को लेकर पंाच संदिग्ध लोगों से पुलिसिया पूछताछ जारी है। बतादें गुरूवार की रात नगर के आनंद आटो मोबाइल्स में बदमाश चोरी की घटना को अंजाम देने मेन गेट के साथ शटर का ताला तोडकर घुस गये थे। दो बदमाश सीसी कैमरे मे बाहर रेकी करते भी नजर आये है। घटना की सूचना मिलते ही डॉयल हंडेªड मे तैनात पीआरवी सिपाही राजकिशोर चौहान होमगार्ड संजय के साथ आननफानन मे बाइक से पहुंच गया था। सिपाही साहसिक ढंग से बदमाशों को ललकारते हुए शोरूम मे घुस गया। तभी उसकी टॉर्च की रोशनी से घबराये बदमाशो ने उस पर फायर झोंक दिया। घायल सिपाही को इलाज के लिए एसआरएन प्रयागराज मे भर्ती कराया गया है। इधर पुलिस की एक टीम व्यवसाई का सीसी कैमरे का सिस्टम अभी तक अपने पास जांच के नाम पर रखे हुये है। पुलिस सीसी कैमरे मे कैद तस्वीर को आम नही होने देना चाहती। दूसरे दिन भी ऑटो मोबाइल्स में ताला लगा दिखा जबकि मकान के अंदर व्यवसाई तथा उसका परिवार दहशत मे देखा गया। नगर के पास इलाके मे इतनी बडी दुस्साहसिक घटना को लेकर बाजार में भी भय व दहशत का माहौल शनिवार को भी बना दिखा। घटना खाकी के लिए न सिर्फ खुलासे का अहम बिंदु है बल्कि सिपाही पर गोली को लेकर यह घटना उसके रसूख की बहाली को भी अभी चुनौती दिये हुए है।