वकील पर जानलेवा हमले से साथियों मे आक्रोश, पीड़ित ने दी तहरीर

लालगंज प्रतापगढ़। कोतवाली के तिना निवासी अधिवक्ता हंसराज यादव पर गांव के दबंगो ने मंगलवार की देर शाम रंजिशन जानलेवा हमला कर दिया। पीडित अधिवक्ता ने घटना को लेकर कोतवाली पुलिस मे तहरीर दी है। तहरीर में अधिवक्ता ने कहा है कि वह मंगलवार की देर शाम गांव के भुलना से साइकिल से घर वापस आ रहा था। इस बीच रास्ते में दो आरोपियों ने उसे गाली देते हुए रोक लिया। आरोपियों ने रंजिशन उसके साथ मारपीट शुरू कर दी। पीडित का कहना है कि शोर मचाने पर आरोपियों ने तमंचा निकाल लिया तब वह अपनी साइकिल फेंककर एक घर मे घुसकर किसी तरह अपनी जान बचा सका। शोरगुल होने पर ग्रामीण दौडे तो आरोपी धमकी देते भाग निकले। इधर साथी अधिवक्ता पर जानलेवा हमले की जानकारी होते ही वकीलों मे भी गुस्सा पनप उठा। वकीलों ने कोतवाली पहुंचकर घटना को लेकर नाराजगी जताई। कोतवाल रणजीत सिंह भदौरिया ने वकीलों को जांच कराकर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई का भरोसा दिलाया। इधर बुधवार की सुबह भी आरोपियों ने अधिवक्ता को शिकायत करने पर परिणाम भुगतने की भी चेतावनी दी है। कोतवाल के निर्देश पर इलाकाई दरोगा फोर्स के साथ बुधवार को आरोपियों की तलाश मे पहुंचे तो आरोपी घर से नदारद मिले। वकीलों ने घटना को लेकर दबंगो के खिलाफ कडी कार्रवाई की मांग की है। इस मौके पर संयुक्त अधिवक्ता संघ के अध्यक्ष राममोहन सिंह, उपाध्यक्ष संतोष पाण्डेय, महामंत्री प्रवीण यादव, संदीप सिंह, ज्ञानप्रकाश शुक्ल, अनिल महेश, मस्तराम पाल, सुशील शुक्ल आदि अधिवक्ता रहे।वकील पर जानलेवा हमले से साथियों मे आक्रोश, पीड़ित ने दी तहरीर
लालगंज प्रतापगढ़। कोतवाली के तिना निवासी अधिवक्ता हंसराज यादव पर गांव के दबंगो ने मंगलवार की देर शाम रंजिशन जानलेवा हमला कर दिया। पीडित अधिवक्ता ने घटना को लेकर कोतवाली पुलिस मे तहरीर दी है। तहरीर में अधिवक्ता ने कहा है कि वह मंगलवार की देर शाम गांव के भुलना से साइकिल से घर वापस आ रहा था। इस बीच रास्ते में दो आरोपियों ने उसे गाली देते हुए रोक लिया। आरोपियों ने रंजिशन उसके साथ मारपीट शुरू कर दी। पीडित का कहना है कि शोर मचाने पर आरोपियों ने तमंचा निकाल लिया तब वह अपनी साइकिल फेंककर एक घर मे घुसकर किसी तरह अपनी जान बचा सका। शोरगुल होने पर ग्रामीण दौडे तो आरोपी धमकी देते भाग निकले। इधर साथी अधिवक्ता पर जानलेवा हमले की जानकारी होते ही वकीलों मे भी गुस्सा पनप उठा। वकीलों ने कोतवाली पहुंचकर घटना को लेकर नाराजगी जताई। कोतवाल रणजीत सिंह भदौरिया ने वकीलों को जांच कराकर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई का भरोसा दिलाया। इधर बुधवार की सुबह भी आरोपियों ने अधिवक्ता को शिकायत करने पर परिणाम भुगतने की भी चेतावनी दी है। कोतवाल के निर्देश पर इलाकाई दरोगा फोर्स के साथ बुधवार को आरोपियों की तलाश मे पहुंचे तो आरोपी घर से नदारद मिले। वकीलों ने घटना को लेकर दबंगो के खिलाफ कडी कार्रवाई की मांग की है। इस मौके पर संयुक्त अधिवक्ता संघ के अध्यक्ष राममोहन सिंह, उपाध्यक्ष संतोष पाण्डेय, महामंत्री प्रवीण यादव, संदीप सिंह, ज्ञानप्रकाश शुक्ल, अनिल महेश, मस्तराम पाल, सुशील शुक्ल आदि अधिवक्ता रहे।