श्री दुर्गेश उपाध्याय द्वारा शेरपुर गाँव के लिए किया गया सराहनीय प्रयास

 

प्रदेश की राजधानी लखनऊ में रहते हुए भी शेरपुर के निवासी और योगी आदित्यनाथ सरकार में यूपीडा के सलाहकार श्री दुर्गेश उपाध्याय अपने गाँव और ग्रामीण भाइयों की मदद के लिए हमेशा तत्पर रहते हैं.

हाल ही में शेरपुर के कुछ किसान भाइयों ने दुर्गेश जी को जानकारी दी की शेरपुर में विश्व बैंक की सहायता से स्थापित ट्यूबवेल नम्बर 269 महीनो से ख़राब पड़ा है और सिंचाई विभाग के अधिकारियों से बार बार निवेदन करने के बावजूद समस्या जस की तस बनी हुई है. अधिकारियों का रुख़ भी सहयोगी नही था. बार बार उनको आश्वासन देकर ज़िले के अधिकारी वापस भेज देते थे. किसान भाइयों को सिंचाई के लिए पानी नही मिल पा रहा था और फसल, सब्ज़ियां ख़राब हो रही थीं. किसानो में इसको लेकर काफ़ी रोष व्याप्त था.

 

दुर्गेश उपाध्याय को जब ये सूचना मिली तो उन्होंने शासन में सिंचाई विभाग के आला अफ़सरों से वार्ता की और ज़िला मुख्यालय के अफ़सरों से भी बात करके इस ट्यूबवेल को तत्काल ठीक करने के लिए कहा. फिर क्या था, ज़िला सिंचाई विभाग के अफसर हरकत में आ गए और उन्होंने किसान भाइयों से खुद सम्पर्क किया और एक हफ़्ते के भीतर विश्व बैंक के इस ट्यूबवेल को repair करके पानी की सुचारु व्यवस्था सुनिश्चहित कराई. कोरोना के इस महामारी में भी जब सभी काम रूके हुए हैं ये केवल दुर्गेश उपाध्याय के प्रयासों का ही नतीजा है कि ये कार्य सम्भव हो सका.

 

दुर्गेश उपाध्याय के इस सराहनीय प्रयास के बाद गाँव के किसानों में ख़ुशी की लहर है की अब उनके खेतों के लिए पानी की व्यवस्था हो गई है और जो कार्य इतने महीनो से अटका पड़ा था उसको श्री उपाध्याय के प्रयासों से शुरू करा दिया गया है