गेहूं क्रय केन्द्रों पर व्यवस्था का नहीं है कोई पुरूषाहाल, किसान भगवान हैं परेशान

लालगंज प्रतापगढ़। गेहूं क्रय केन्द्रो पर तीन दिनो की बारिश के मौसम के बावजूद किसानो तथा गेहूं की सुरक्षा को लेकर प्रबन्ध नजर नही आ सका है। वहीं क्रय केन्द्रो पर गेहूं बेचने के लिए ऑनलाइन टोकन लिये किसान रोज तहसील से लेकर ब्लाक मुख्यालयो तक भटकते देखे जा रहे है। गुरूवार को लोगों ने एसडीएम से की गई शिकायत मे कहा है कि क्रय केन्द्रो पर गेहूं की सुरक्षा के लिए तिरपाल आदि का प्रबन्ध न होने से टैªक्टरो पर लदे उनकी गेहूं की फसल नमी का शिकार हो रही है। ऐसे मे अफसर बाद में फसल मे नमी की बात कहकर खरीद में अडचने पैदा कर सकेगें। सरकार के लगातार दावो के बावजूद गेहूं क्रय केन्द्रो पर किसानो को अपना गेहूं बेचने मे पारी का इंतजार भी अखर रहा है। क्षेत्रीय स्तर पर अफसरो को भी इधर गेहूं क्रय केंद्र की व्यवस्था को लेकर जांच पडताल तक की फुर्सत तक नही देखी जा रही है। एसडीएम राहुल यादव ने जरूर कहा है कि वह क्रय केंद्रो पर व्यवस्था के बाबत मॉनीटरिंग शुरू करेगें। इधर बडी संख्या मे किसानो को बारिश के चलते अपने गेहूं की फसल के भीगने और नमी को लेकर अंदर ही अंदर चिंता भी सता रही है। खासकर टोकन को लेकर पारी के इंतजार में किसान हलाकान व परेशान कुछ ज्यादा ही दिख रहे है।गेहूं क्रय केन्द्रों पर व्यवस्था का नहीं है कोई पुरूषाहाल, किसान भगवान हैं परेशान
लालगंज प्रतापगढ़। गेहूं क्रय केन्द्रो पर तीन दिनो की बारिश के मौसम के बावजूद किसानो तथा गेहूं की सुरक्षा को लेकर प्रबन्ध नजर नही आ सका है। वहीं क्रय केन्द्रो पर गेहूं बेचने के लिए ऑनलाइन टोकन लिये किसान रोज तहसील से लेकर ब्लाक मुख्यालयो तक भटकते देखे जा रहे है। गुरूवार को लोगों ने एसडीएम से की गई शिकायत मे कहा है कि क्रय केन्द्रो पर गेहूं की सुरक्षा के लिए तिरपाल आदि का प्रबन्ध न होने से टैªक्टरो पर लदे उनकी गेहूं की फसल नमी का शिकार हो रही है। ऐसे मे अफसर बाद में फसल मे नमी की बात कहकर खरीद में अडचने पैदा कर सकेगें। सरकार के लगातार दावो के बावजूद गेहूं क्रय केन्द्रो पर किसानो को अपना गेहूं बेचने मे पारी का इंतजार भी अखर रहा है। क्षेत्रीय स्तर पर अफसरो को भी इधर गेहूं क्रय केंद्र की व्यवस्था को लेकर जांच पडताल तक की फुर्सत तक नही देखी जा रही है। एसडीएम राहुल यादव ने जरूर कहा है कि वह क्रय केंद्रो पर व्यवस्था के बाबत मॉनीटरिंग शुरू करेगें। इधर बडी संख्या मे किसानो को बारिश के चलते अपने गेहूं की फसल के भीगने और नमी को लेकर अंदर ही अंदर चिंता भी सता रही है। खासकर टोकन को लेकर पारी के इंतजार में किसान हलाकान व परेशान कुछ ज्यादा ही दिख रहे है।