मिसाल : बिना शपथ लिए ही कर रहे हैं गांव की देखभाल- परशुराम ओझा

 

पट्टी!हाल ही में संपन्न हुए त्रीस्तरीय पंचायत चुनाव में विजयी हुये नवनिर्वाचित ग्राम प्रधान की अभी शपथ भी नहीं हुई है तथा उन्हें कार्यभार भी नहीं सौंपा गया है । इसके बावजूद कोरोना काल के दौरान गांव को स्वच्छ तथा स्वस्थ रखने का बीडा़ उठाते हुए नवनिर्वाचित प्रधान गांव की देखभाल के साथ-साथ गांव में सैनिटाइजेशन, टीकाकरण, मास्क वितरण तथा साफ-सफाई की देखभाल करते हुए अनूठी मिसाल पेश की है ।

मामला पट्टी विकासखंड के सराय मधई गांव का है, जहां के नव निर्वाचित ग्राम प्रधान परशुराम ओझा ने बिना शपथ लिए कोरोना वायरस गांव को बचाने के लिए सारी ताकत झोंक दी है । उनकी इसी कार्यशैली की सराहना करते हुए समाजवादी पार्टी के प्रदेश कार्यकारिणी के सदस्य असगर अंसारी ने उनके आवास पर पहुंचकर उन्हें अंगवस्त्रम तथा स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया । इस मौके पर श्री अंसारी ने कहा कि देश को ऐसे ही ग्राम प्रधानों की जरूरत है जो गांव के विकास के साथ-साथ उनकी बुनियादी समस्याओं के लिए जी जान से जुटे रहते हैं ।

अपने सम्मान पर नवनिर्वाचित ग्राम प्रधान परशुराम ओझा ने कहा कि यह सम्मान मेरा नहीं बल्कि पूरे गांव का है तथा गांव का प्रत्येक व्यक्ति इस सम्मान का पात्र है । मुझे जो जिम्मेदारी ग्रामीणों ने सौंपी है उसे मैं इमानदारी पूर्वक पूर्ण कर सकूं यही मेरी सबसे बड़ी पूंजी है ।

इस मौके पर मोहम्मद यूसुफ भकोले, राज शंकर मिश्रा, शीतला प्रसाद तिवारी, विजय शंकर, गुड्डन मिश्रा, अजब नारायण ओझा तथा अरविंद ओझा आदि मौजूद रहे।