कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर की आशंका चिंताजनक, पीएम देश को दें प्रबन्धों की जानकारी- प्रमोद तिवारी

सीडब्लूसी मेंबर ने यूपी में पंचायत चुनाव के जनादेश को ठहराया सरकार के खिलाफ आक्रोश, पश्चिम बंगाल में बीजेपी सांसद प्रज्ञा ठाकुर के बयान पर भी पीएम की किया घेराबंदी

लालगंज, प्रतापगढ़। केन्द्रीय कांग्रेस कार्यसमिति के सदस्य प्रमोद तिवारी ने देश के प्रधान वैज्ञानिक सलाहकार के विजय राघवन की कोरोना महामारी की तीसरी लहर की आशंका को गंभीर चिंताजनक करार दिया है। वहीं सीडब्लूसी मेंबर प्रमोद तिवारी ने यूपी में हुए हालिया पंचायत चुनाव के नतीजों को पहली बार एक प्रबल बहुमत की सरकार के खिलाफ अब तक का सबसे प्रबल विरोध में आये जनादेश को आने वाले विधानसभा चुनाव परिणामों की जनता के आक्रोश की पूर्व घोषणा भी करार दिया है। गुरूवार को प्रमोद तिवारी ने कहा कि विश्व स्वास्थ्य संगठन ने ताजा चिंताजनक चेतावनी के तहत दुनिया में कुल मिलाकर जितने लोग प्रतिदिन कोरोना से संक्रमित हो रहे है, उसमें से आधे मरीज सिर्फ भारत के हैं। वहीं डब्लूएचओ के हवाले से प्रमोद तिवारी ने कोरोना से पूरी दुनिया मे हो रही प्रतिदिन मौतों में एक चौथाई भारतीयों की मौत को रोंगटे खडा कर देने वाले इस आंकडे को भी प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में सरकार के पहले से प्रबंधन न किये जाने का भी दुष्परिणाम करार दिया है। सीडब्लूसी मंेबर प्रमोद तिवारी ने कहा कि एक तरफ दुनिया के छोटे गरीब तथा विकसित और अविकसित देशों ने तो कोरोना से खुद को संभाल लिया है किंतु मोदी के नेतृत्व में कोरोना मे लगातार बढोत्तरी से देश तबाही व बर्बादी के मुकाम पर पहुंच गया है। प्रमोद तिवारी ने अफसोस जताया है कि देश कोरोना की दूसरी लहर को तो झेल नही पा रहा है, ऐसे में अब प्रधानमंत्री को देश को सीधे तौर पर यह बताने की जरूरत है कि वह और उनकी सरकार ने महामारी की तीसरी लहर से निपटने के लिए क्या प्रबन्ध किये है? उन्होनें कहा कि नौ हजार मीट्रिक टन ऑक्सीजन पूंजीपतियों की तिजोरी भरने मात्र के लिए सरकार ने बेंचने की इजाजत दे दी और बयासी देशों को वैक्सीन बेंचने वाला पूनावाला सरकार की अक्षमता से आज लंदन भाग गया है। उन्होनें पेट्रोल तथा डीजल के फिर पिछले तीन दिनों से दामों मे बढोत्तरी को लेकर मोदी सरकार पर आपदा को अवसर में बदलो का तंज कसा है। श्री तिवारी ने कहा है कि पश्चिम बंगाल, असम, केरल और पांडुचेरी जैसे पांच राज्यों में चुनाव समाप्त हुए तो अब पेट्रोल एवं डीजल के दाम हर रोज बढ़ने लगे है। सीडब्लूसी मेंबर ने दिल्ली में पेट्रोल की कीमत के इक्यान्वें रूपये प्रति लीटर अधिक होने का उदाहरण रखते हुए कहा कि देश के कई हिस्सों मे तो दाम इससे भी अधिक है। इधर प्रदेश में पंचायत चुनाव के हालिया नतीजे को लेकर प्रमोद तिवारी ने कहा कि अब तक जितने भी पंचायत चुनाव हुए है किसी भी पंचायत चुनाव में सरकार के खिलाफ इस तरह एकतरफा जनादेश कभी नही आया। प्रमोद तिवारी ने पंचायत चुनाव में सरकारी तंत्र के भारी दुरूपयोग का भी आरोप लगाते हुए कहा कि इसके बावजूद जबकि चुनाव में सरकार एवं संगठन ने पूरी ताकत झोंक दी थी फिर भी सरकार के खिलाफ जनादेश यह साबित करता है कि पूरे प्रदेश में आक्सीजन न दे पानें वाली यूपी की बीजेपी सरकार स्वयं ऑक्सीजन एवं वेंटीलेटर पर आ गयी है। उन्होनें कहा कि बीजेपी ने यह कहकर भी पंचायत चुनाव लड़ा था कि यह चुनाव विधानसभा का सेमीफाइनल है। ऐसे में श्री तिवारी ने सियासी वार किया कि अब यह स्पष्ट है जब भी विधानसभा के चुनाव होगें यूपी में भाजपा सैकड़ा का आंकडा भी नही पार कर पायेगी। श्री तिवारी ने कहा कि भाजपा का चाल चरित्र और चेहरा भी इन चुनाव परिणामों से स्पष्ट रूप से खत्म हो गया है। उन्होनें मध्य प्रदेश से बीजेपी सांसद साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के पश्चिम बंगाल की नवनिर्वाचित मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को ताड़का कहने को हिंसा की आग मे जल रहे पश्चिम बंगाल में आग मे घी डालने का निंदनीय प्रयास ठहराया है। मीडिया प्रभारी ज्ञानप्रकाश शुक्ल के हवाले से यहां जारी बयान में प्रमोद तिवारी ने प्रज्ञा ठाकुर के ताड़का वध करने के लिए राम को आने की इस टिप्पणी पर भाजपा नेतृत्व की तगड़ी घेराबंदी करते हुए कहा कि यदि पीएम मोदी की इस पर सहमति नही है तो उन्हें आज ही भाजपा संसदीय दल के नेता के रूप में प्रज्ञा ठाकुर को निकालना चाहिये। श्री तिवारी ने प्रधानमंत्री पर यह भी सवाल उछाला है कि यदि संसदीय दल के नेता के रूप में वह यह कदम नहीं उठा पाये तो समझा जाएगा कि प्रज्ञा ठाकुर उनके इशारे पर इस तरह की बयानबाजी कर रहीं है। श्री तिवारी ने सरकार एवं प्रधानमंत्री से कहा है कि कोरोना की मौत के ताण्डव को रोकने के लिए वह जुमलेबाजी बंद कर वैज्ञानिक ढंग से महामारी से बचाव का रोडमैप तैयार करें।