चुनावी रंजिश मे प्रधान पद के उम्मीद्वार को मारी गोली, प्रयागराज रिफर

 

इसके पूर्व भी कई बार हो चुका है विवाद

 

प्रतापगढ़ । चुनावी रंजिश को लेकर मारी गोली, हालत गंभीर, मौके पर पहुचे परिजनों ने पुलिस को सूचना देने के साथ ही घायल को लेकर पहुचे जिला अस्पताल जहां पर प्राथमिक उपचार के बाद डाक्टरों ने घायल को गंभीर हालत मे बेहतर इलाज हेतु प्रयागराज रिफर कर दिया ।प्राप्त जानकारी व पीड़ित के भाई कृष्णकुमार तिवारी द्वारा पुलिस को दिए गए तहरीर से मिली जानकारी के मुताबिक लालगंज कोतवाली क्षेत्र के हदिराही गांव के रहने वाले वरुण तिवारी पुत्र भगौती प्रसाद तिवारी को गांव के ही नन्हे लाल वर्मा पुत्र रामनाथ जितेन्द्र वर्मा, महेन्द्र वर्मा, अजीत वर्मा पुत्रगण नन्हेलाल वर्मा, लक्ष्मण वर्मा पुत्र ननकू , संगम वर्मा पुत्र राधेश्याम व रिंकू वर्मा पुत्र श्रीराम ने गोली मार दी ।जिससे वह गंभीर रुप से घायल हो गया । सिर के पास व कूल्ह के नीचे लगी गोली। ग्रामीणों के मुताबिक पिछले कई वर्षों से प्रधान पद के उम्मीद्वार के तौर पर चुनाव लड़ रहे थे वरुण उर्फ छेदी तिवारी ।पीड़ित के भाई ने विपक्ष के नन्हे लाल वर्मा पर रंजिशन गोली मारने का आरोप लगाते हुए तहरीर मे बताया कि उनका भाई वरुण अपने ट्यूबवेल से घर आ रहा था कि रास्ते मे बाग के पास पहले से ही घात लगाकर बैठे आरोपित उनके साथ गाली – गलौज करने के साथ ही मार – पीट करने लगे ।आरोप है कि नन्हे वर्मा के कहने पर साथ रहे बेटों ने वरुण पर फायरिंग कर दी ।शोर – गुल सुनकर मौके पर पहुंचे पीड़ित परिजनों को दबंग जान से मारने की धमकी देते हुए भाग निकले ।गंभीर रुप से घायल वरुण तिवारी को परिजन जिला अस्पताल लेकर गए जहां से उन्हे प्राथमिक उपचार के बाद डाक्टरों ने बेहतर उपचार हेतु प्रयागराज रिफर कर दिया जहां उनका उपचार चल रहा है । प्राप्त जानकारी के मुताबिक इसके पूर्व भी पूर्व प्रधान व उसके बेटों संग हो चुका है घायल वरुण तिवारी से विवाद ।पीड़ित के भाई ने पुलिस को लिखित नामजद तहरीर दे मुकदमा दर्ज कर उचित कार्यवाही करने के लिए मांग किया है ।हलांकि मामले मे लालगंज कोतवाल रणजीत सिंह भदौरिया से बात करने पर उन्होने बताया कि मुख्य आरोपी नन्हे लाल वर्मा को गिरफ्तार कर लिया गया है जबकि अन्य आरोपियों की तलाश जारी है, जल्द ही वे भी पकड़े जाएगें और मामले मे दोषी पाए जाने वाले आरोपियों पर उचित विधिक कार्यवाही की जाएगी ।