कोरोना काल में साइकिल से निकली बारात

 

दूल्हे ने दिया फिजूल खर्ची रोकने और पर्यावरण संरक्षण का संदेश

 

पर्यावरण सेना के नेतृत्व में अनोखी पहल को सभी ने सराहा

 

विजय पाठक प्रदेश प्रभारी पीआई न्यूज़ टीम उत्तर प्रदेश

 

प्रतापगढ़ । एक ओर जहां वर्तमान समय में शादियां स्टेटस सिंबल बनती जा रही है वहीं पर्यावरण सेना की मुहिम लोगों को पर्यावरण संरक्षण और सभ्य समाज के निर्माण में सार्थक साबित हो रही है। जिसका परिणाम आज मान्धाता ब्लॉक के बोझी गांव में दिखी।बोझी गांव के विनय कुमार प्रजापति ने अपनी शादी की बारात साइकिल से निकाल कर लोगों को फिजूल खर्ची रोकने के साथ दहेज और प्रदूषण मुक्त विवाह करते हुए समाज को पर्यावरण संरक्षण का संदेश दिया।दूल्हा बने विनय प्रजापति ने कहा कि साइकिल चलाकर हमने लोगों को धन और अन्न की बरबादी रोकते हुए पर्यावरण की रक्षा हेतु जागरुक किया है।सभी युवाओं को पर्यावरण सेना के इस बदलाव कि मुहिम में आगे आना चाहिए।कार्यक्रम का नेतृत्व कर रहे पर्यावरण सेना प्रमुख अजय क्रांतिकारी ने कहा कि पर्यावरण को बचाए बिना धरती पर जीवन की कल्पना नहीं की जा सकती।पर्यावरण सेना की मुहिम से लोग जुड़कर अपना व्यवहार बदलते हुए पूरे समाज को पर्यावरण के अनुकूल बदलने का जो प्रयास कर रहे हैं वह पीढ़ियों के लिए मील का पत्थर साबित होगा।इस मौके पर नमन कुमार तिवारी, रमेश प्रजापति,वीरेंद्र प्रजापति,शीतला प्रसाद और लाल चंद्र आदि लोग मौजूद रहे।