पुलिस बवालियों पर शिकंजा कसने में परेशान, समर्थक जीत हार के दावों में हलाकांन….

लालगंज,प्रतापगढ़: पंचायत चुनाव में मतदान के दिन जहां गांवों में सिर फुटव्वल की घटनाओं से जहां पुलिस अब आरोपियों की धर पकड़ में हलाकांन दिख रही हैं। वही गांव में प्रधान तथा बीडीसी व जिला पंचायत सदस्यों के चुनाव को लेकर समर्थक अपने अपने उम्मीदवारों की जीत के दावे में मशगूल दिख रहे है। प्रत्याशी भी अंदर ही अंदर अपने क्षेत्र के मतदान केन्द्रों पर मतप्रतिशत के आधार पर अपने पक्ष में मतदान को लेकर गुणा भाग करते दिख रहे है। हालाकि मतगणना के पहले बहुत से प्रत्याशी जीत के दावे में है। इधर मतदान के दिन पुलिस के द्वारा हिरासत में लिये जाने वाले कुछ प्रत्याशी जरूर मतदान केन्द्र पर पूरे समय उपस्थित न रह पाने के मलाल में देखे जा रहे है। मतदान के दिन को लेकर लाल कार्ड भी अभी भी गांव गांव एक दूसरे के पुलिस मिली भगत से आरोप प्रत्यारोप की अंदर ही अंदर सरगर्मी लिये हुए है। वही विभिन्न पदो ंके प्रत्याशी अब मतगणना ऐजेन्ट बनाये जाने में मशक्कत कर रहे है। प्रशासन का कहना है कि आपराधिक रिकार्ड रखने वाले तथा लाल कार्ड की सूची में शामिल लोग मतगणना ऐजेन्ट नही बनाये जायेगे। इसे लेकर भी प्रत्याशियों अंदर ही अंदर बेचैनी दिख रही है। दरअसल बहुत से तो ऐसे प्रत्याशी खुद है जिन्हें पुलिस ने मतदान के ठीक पहले लाल कार्ड थमाकर घेरे में ले लिया है। जीता हार किसकी होगी यह तो दो मई को होने वाली मतगणना में तय होगा पर मतगणना में प्रत्याशी व समर्थक धांधली को रोकने की भी कई तरह जुगत में लगे हैरान व परेशान दिख रहे है।