आशापुर अठगवा के जंगल में लगी आग लाखों की वन संपदा खाक

 

ग्रामीणों के घंटों अथक प्रयास के बाद पाया गया आग पर काबू

 

सागौन शीशम चिलबिल बबूल बॉस के हजारों वृक्ष जलकर राख

 

प्रतापगढ़।आशापुर अठगवांं गांव के जंगल में बुधवार को अचानक अराजक तत्वों ने आग लगा दी जिससे लाखों की वन संपदा जलकर राख हो गई। ग्रामीणों के घंटो अथक प्रयास के बाद किसी तरह आग पर काबू पाया गया लेकिन तब तक 10 बीघे का जंगल जलकर राख हो गया। जिसमें हजारों वृक्ष जलकर खाक हो गए।पट्टी कोतवाली क्षेत्र के आशापुर अठगवा गांव के जंगल में बुधवार को अराजक तत्वों ने अचानक जंगल में आग लगा दी। जब तक ग्रामीण कुछ समझ पाते तब तक तेज हवा के चलते आग ने विकराल रूप धारण कर पूरे जंगल को अपने चपेट में ले लिया। और दस वीघे का जंगल जलकर राख हो गया। सैकड़ों ग्रामीण जंगल को बचाने के लिए घंटों अथक प्रयास किए लेकिन पछुआ हवा और सूखे सरपत से आग विकराल रूप धारण कर ली और 10 बीघे के जंगल को पल भर में राख में तब्दील कर दिया।

जिसमें सागौन, शीशम, चिलबिल, बबूल ,बांस सहित हजारों कीमती पेड़ जलकर राख हो गए। इस भीषण अग्निकांड में आशापुर अठगवां गांव निवासी राम अचल सिंह, शिव अचल सिंह, डॉ अमर सिंह, सुमन सिंह, विजय सिंह, रामकरण सिंह, लल्लन सिंह सहित दर्जनों किसानों के हजारों पेड़ जलकर राख हो गए। किसान इस भीषण अग्निकांड में लाखों की वन संपदा खाक होने का अनुमान लगा रहे। भीषण अग्निकांड में शिव अचल सिंह का सबसे अधिक नुकसान बताया जा रहा है।