बोरे पर अंकित प्रिंट मुल्य पर ही उर्वरकों का कय करें कृषक-

 

उर्वरक प्रतिष्ठानों को रेट बोर्ड लगावाना अनिवार्य- जिला कृषि अधिकारी

 

देवरिया

जिला कृषि अधिकारी मुहम्मद मुजम्मिल ने बताया है कि खरीफ 2021 का सीजन प्रारम्भ हो चुका है। कृषको उचित दर पर उर्वरक प्राप्त हो इसके लिए जनपद के सभी किसान बन्धुओं से अपील है कि फास्फेटिक उर्वरकों के दरों में काफी भिन्नता है पुराने बोरो पर पुराना दर अंकित है जबकि नये बोरो पर भविष्य में बढ़ा हुआ दर अंकित होने की सम्भावना है। ऐसे में बोरे पर अंकित प्रिण्ट मुल्य पर ही उर्वरकों का कय करें। किसी भी दशा में बोरे पर प्रिन्ट दर से अधिक मुल्य पर उर्वरक कय न करे। उर्वरक विक्रेता कृषकों को उनके आधार कार्ड पर जोत बही के अनुसार पी०ओ०एस० मशीन से ही उर्वरकों की बिक्री करें तथा कृषकों को बोरे पर अंकित प्रिन्ट दर की ही रसीद उपलब्ध कराये। कृषक बन्धु रसीद प्राप्त करते समय बोरे पर अंकित मुल्य एवं पी०ओ०एस० मशीन से निकला रसीद पर अंकित मुल्य का मिलान करने के उपरान्त ही उर्वरक कय करे।

उर्वरक प्रतिष्ठानों पर हर हाल में फलैक्स बोर्ड (रेट बोड) लगाए तथा उर्वरक की मात्रा व दर अवश्य अंकित करे। साथ ही साथ सभी फुटकर उर्वरक विक्रेता अपने प्रतिष्ठान पर उर्वरक क्रय करने हेतु आने वाले प्रत्येक व्यक्ति का ब्यौरा रजिस्टर बनाकर उसमें दर्ज करेंगें। रजिस्टर में कृषकों का नाम, पता, आधार नम्बर तथा मो० नम्बर अनिवार्य रूप से दर्ज करेंगे। विभाग द्वारा इसका समय समय पर रेण्डम सत्यापन भी कराया जाएगा। अगर किसी उर्वरक विक्रेता द्वारा अधिक दर पर या पुराने उर्वरकों के बोरो को नये बढे दर पर विक्रय करता है तो उसके विरुद्ध उर्वरक नियन्त्रण आदेश 1985 एवं आवश्यक वस्तु अधिनियम 1955 के अन्तर्गत कार्यवाही सम्पन्न की जाएगी।