मा0 मुख्यमंत्री जी ने बैठक कर कोविड-19 की समीक्षा की

 

अस्पतालों में मरीजों को समय से अच्छी सुविधा सुनिश्चित हो

 

कांटैक्ट टेªसिंग, जांच तथा उपचार में लायी जाये तेजी

 

किसी भी दशा में लापरवाही न होने पायें

 

बाहर से आने वाले लोगो की कांटैक्ट टेªसिंग तथा जांच पर विशेष ध्यान दिया जाय

 

ग्रामीण तथा नगरीय क्षेत्रों में निगरानी समितियों को निरंतर क्रियाशील बनाये रखें

 

कंटेनमेंट जोन की व्यवस्था अनिवार्य रूप से लागू हो

 

एक मरीज के मिलने पर 25 मीटर तथा दो मरीज के मिलने पर 50 मीटर के दायरे में कंटेनमेंट जोन लागू हो

 

पब्लिक एडेªस सिस्टम से निरंतर लोगों को किया जाता रहे जागरूक

 

प्रत्येक जनपद में एल-2 तथा एल-3 अस्पतालों की व्यवस्था पर विशेष फोकस करें

 

सोशल डिस्टेंसिंग तथा मास्क का प्रयोग अनिवार्य रूप से करने के लिए लोगो को करें जागरूक

 

मास्क न लगाने पर चालान की कार्यवाही करते समय सद्भावना पूर्ण ढंग से कार्य करें, दुर्भावना से कार्य न करें

 

कोविड तथा नाॅन कोविड वार्डों तथा एम्बुलेंस की अलग-अलग व्यवस्था रहें सुनिश्चित

 

डेडीकेटेड अस्पताल की व्यवस्था बनाने के दिए निर्देश

 

11 अप्रैल से 14 अप्रैल तक टीका उत्सव को सफल बनाने हेतु सभी आवश्यक व्यवथायें सुनिश्चित करने के दिय निर्देश

 

ग्रामीण तथा शहरी क्षेत्रों में स्वच्छता तथा सैनेटाइजेशन व्यापक स्तर पर करायें जाने के निर्देश

 

अस्पतालों में आॅक्सीजन की पर्याप्त उपलब्धता के साथ-साथ अन्य सभी आवश्यक व्यवथायें पूर्ण रूप से रहें सुनिश्चित-मा0 मुख्यमंत्री

 

09 अप्रैल, 2021 प्रयागराज।

 

मा0 मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी ने शुक्रवार को मेला क्षेत्र में स्थित इंट्रीग्रेटेड कमाण्ड एण्ड कंट्रोल संेन्टर(आईसीसीसी) में कोविड-19 के प्रसार को रोकने के उपायों, उपचार तथा वैक्सीनेसन की प्रगति की समीक्षा करते हुए आवश्यक दिशा निर्देश दिये है। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग तथा प्रशासन को निर्देशित करते हुए कहा कि अस्पतालों में मरीजो को समय से अच्छी उपचार की सुविधायें उपलब्ध करायी जाये। उन्होंने कोविड-19 के संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए कांटैक्ट टेªसिंग एवं जांच में और अधिक तेजी लाये जाने का निर्देश दिया है। उन्होंने कहा है कि बाहर से आने वाले लोगों की कांटैक्ट टेªसिंग करते हुए उनकी जांच अनिवार्य रुप से सुनिश्चित की जाये। मा0 मुख्यमंत्री जी ने निर्देशित करते हुए कहा कि कंटेनमेंट जोन की व्यवस्था अनिवार्य रुप से लागू की जाये। उन्होंने कहा कि एक मरीज मिलने पर सम्बंधित क्षेत्र में 25 मीटर के दायरे में तथा 2 मरीज के मिलने पर 50 मीटर के दायरे में कंटेनमेंट जोन लागू करने की व्यवस्था सुनिश्चित की जाये। उन्होंने कहा कि कंटेनमेंट जोन में सुरक्षा की व्यवस्था भी सुनिश्चित रहें।

 

मा0 मुख्यमंत्री जी ने प्रत्येक जनपद में एल-2 तथा एल-3 अस्पतालों की व्यवस्था पर विशेष फोकस करने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने कहा कि अस्पतालों में सभी आवश्यक व्यवस्थायें पूर्ण रुप से सुनिश्चित रहें। कहा कि अस्पतालों में आॅक्सीजन की पर्याप्त व्यवस्था उपलब्ध रहें। इसके लिए पहले से ही सभी तैयारी बनाये रखें। उन्होंने अस्पतालों में कोविड तथा नान कोविड वार्डो की अलग-अलग व्यवस्थायें अनिवार्य रुप से सुनिश्चित करने के लिए कहा है साथ ही साथ उन्होंने एम्बुलेंस की भी अलग-अलग व्यव्सथा सुनिश्चित करने के लिए कहा है। उन्होंने यह भी निर्देशित किया कि एम्बुलेंस निर्धारित समय पर मरीज के पास अवश्य पहुंचे। मा0 मुख्यमंत्री जी ने कहा कि शासन के निर्देशों के अनुक्रम में एम्बुलेंस के संचालन में यदि किसी भी प्रकार की लापरवाही या उदासीनता पायी जाये तो तत्काल उनके विरूद्ध कड़ी कार्रवाई सुनिश्चित की जाये। उन्होंने अस्पतालों में सीसीटीवी कैमरा को क्रियाशील रखने के लिए कहा है।

 

मा0 मुख्यमंत्री जी ने जनपदों में कोविड-19 हेतु डेडीकेटेड अस्पताल की व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए निर्देशित किया है। उन्होंने जनपद प्रयागराज में मेडिकल कालेज के अलावा अलग से और डेडीकेटेड अस्पताल बनाये जाने के लिए निर्देश दिये हैं। उन्होंने लोगों को मास्क लगाने, सोशल डिस्टेंटिंग का अनिवार्य रुप से पालन किये जाने हेतु विशेष जागरुकता अभियान चलाये जाने का निर्देश दिया है। मा0 मुख्यमंत्री जी ने निर्देशित करते हुए कहा कि मास्क न लगाने के विरुद्ध चालान की कार्रवाई करते समय दुर्भावना पूर्ण ढंग से कार्य न किया जाये, लोगों को मास्क लगाने के लिए प्रेरित करें। उन्होंने कहा कि प्रत्येक चैराहों पर पब्लिक एडेªस सिस्टम से निरंतर लोगो को कोविड-19 से बचाव के उपायों के बारे में जागरूक किया जाता रहें। कहा कि जिन चैराहों पर पब्लिक एडेªेस सिस्टम की व्यवस्था न हो पायी हो, वहां पर तैनात पुलिस कर्मी छोटे माइक से लोगों को जागरूक करते रहें।

 

मा0 मुख्यमंत्री जी ने ग्रामीण तथा नगरीय क्षेत्रों में स्वच्छता तथा सेनेटाइजेशन की कार्यवाही प्रभावी ढंग से सुनिश्चित कराये जाने के लिए कहा है। उन्होंने कहा कि सफाई पर विशेष ध्यान दिया जाये। अस्पतालों में नये मैन पाॅवर का अनिवार्य रूप से प्रशिक्षण कराये जाने का निर्देश मा0 मुख्यमंत्री जी ने दिया है। मा0 मुख्यमंत्री जी ने स्वास्थ्य विभाग तथा अन्य सम्बंधित विभागों के अधिकारियों को 11 अप्रैल से 14 अप्रैल तक चलाये जाने वाले टीका उत्सव कार्यक्रम को सफल बनाये जाने हेतु सभी आवश्यक व्यवस्थायें व तैयारियां समय से सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है। उन्होंने वैक्सीनेशन के कार्य में तेजी लाये जाने का निर्देश दिया है। मा0 मुख्यमंत्री जी ने स्वास्थ्य विभाग तथा प्रशासन को प्रतिदिन संयुक्त रूप से बैठक करते हुए कार्यवाहियों की समीक्षा किये जाने के लिए निर्देशित किया है। मा0 मुख्यमंत्री जी ने कहा कि व्यवस्था के सम्बंध में कोई भी डिमांड हो तो तत्काल उसको शासन के स्तर पर पर भेजा जाये। बैठक के बाद मा0 मुख्यमंत्री जी आईसीसीसी में बने कोविड कमाण्ड एण्ड कंट्रोल सेंटर का निरीक्षण किया व व्यवस्थाओं के बारे में जानकारी ली।

 

इसके पूर्व मण्डलायुक्त श्री संजय गोयल, जिलाधिकारी श्री भानु चन्द्र गोस्वामी ने कोविड-19 के प्रसार को रोकने हेतु की जा रही व्यवस्थाओं, उपचार तथा वैक्सीनेशन के बारे में मा0 मुख्यमंत्री जी को विस्तार से जानकारी दी। इस अवसर पर मा0 सांसद फूलपुर श्रीमती केशरी देवी पटेल, मा0 कैबिनेट मंत्री श्री सिद्धार्थ नाथ सिंह, श्री नंद गोपाल गुप्ता नंदी, मा0 विधायक चायल श्री संजय गुप्ता, मेजा विधायक श्रीमती नीलम करवरियां, मा0 विधायक फाफामऊ श्री विक्रमाजीत मौर्या, मा0 विधायक बारा-श्री अजय भारती, एडीजी जोन-श्री प्रेम प्रकाश, आईजी श्री केपी सिंह, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक श्री सर्वश्रेष्ठ त्रिपाठी, पीडीए के उपाध्यक्ष-श्री अंकित अग्रवाल, नगर आयुक्त श्री रवि रंजन, प्राचार्य मेडिकल कालेज श्री एस0पी0 सिंह, मुख्य चिकित्साधिकारी श्री प्रभाकर राय सहित अन्य सम्बंधित विभागों के अधिकारीगण उपस्थित रहे।

 

————————————————

 

मा0 मुख्यमंत्री जी ने स्वरूपरानी में बनाये गये कोविड वार्ड का किया निरीक्षण

 

स्वंय को सुरक्षित रखते हुए मरीजों को बेहतर सुविधायें उपलब्ध करायें-मा0 मुख्यमंत्री

 

बैठक के उपरांत मा0 मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी स्वरूपरानी में बने कोविड-19 अस्पताल का निरीक्षण किया। निरीक्षण के समय मा0 मंत्री श्री सिद्धार्थ नाथ सिंह, श्री नंद गोपाल गुप्ता नंदी भी उपस्थित रहे। मा0 मुख्यमंत्री जी ने अस्पताल पहुंचने पर वहां पर कोविड-19 वार्ड के अधीक्षक से जनरल वार्ड और ओपीडी में दी जा रही सुविधाओं के बारे में जानकारी प्राप्त की। उन्होंने निर्देशित करते हुए कहा कि ज्यादा भीड़ न होने पायें, इसके लिए आॅनलाइन व्यवस्था सुनिश्चित की जाये। जो गम्भीर रूप से मरीज है उनको सोशल डिस्टेंसिंग के साथ बैठाया जाये। उन्होंने कहा कि चिकित्सकों के साथ ही मरीजों को बचाना हमारी प्राथमिकता होगी। उन्होंने कहा कि मरीजों को किसी भी तरह की कोई समस्या न आने पायें। मा0 मुख्यमंत्री जी ने कहा कि दूरभाष के माध्यम से भी उपचार के बारे में जानकारी दी जाये। उन्होंने अस्पताल में सभी आवश्यक व्यवथायें सुनिश्चित करने के लिए कहा है। उन्होंने वैश्विक महामारी के प्रसार को रोकने के लिए प्रभावी कार्यवाही करने के लिए कहा है। मा0 मुख्यमंत्री जी ने चिकित्सा तथा पैरामेडिकल स्टाॅफ से अपने को सुरक्षित रखते हुए मरीजों को अच्छी सुविधायें तथा उपचार देने हेतु निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि होम आइशोलेशन में रहे मरीजों से निरंतर दूरभाष पर उनकी स्थिति की जानकारी लेते रहने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि सभी लोगो को मिलकर नई चुनौतियों का सामना करना है। उन्होंने कहा कि आपलोगो में समर्पण और सेवा की भावना होनी चाहिए तथा मरीजों की समय से उपचार की व्यवस्था कर मरीजों को बचाया जा सकता है। उन्होंने अस्पताल में वेंटीलेटर, आॅक्सीजन सहित सभी अन्य आवश्यक व्यवस्थायें समुचित मात्रा में उपलब्ध बनाये रखने के निर्देश दिये है। इस अवसर पर एडीजी जोन-श्री प्रेम प्रकाश, मण्डलायुक्त श्री संजय गोयल, आईजी श्री के0पी0 सिंह, जिलाधिकारी-श्री भानु चन्द्र गोस्वामी सहित अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे।