प्रतापगढ़ जिला संवादाता: केन्द्रीय कांग्रेस कार्यसमिति के सदस्य प्रमोद तिवारी ने कोरोना महामारी के पीक पर होने को लेकर चिंता जताते हुए प्रधानमंत्री और गृहमंत्री से चुनाव की जगह महामारी के नियंत्रण में कारगर उपायों की जिम्मेदारी लिये जाने को कहा है। श्री तिवारी ने कहा कि इस समय जबकि पेट्रोलियम पदार्थो के दाम आसमान छू रहे है और देश में नक्सलवाद ने फिर सिर उठा रखा है। ऐसे में प्रधानमत्री नरेन्द्र मोदी तथा गृहमंत्री अमितशाह को राज्यों में हो रहे चुनावों में किसी तरह से सत्ता हथियानें की चिंता ही अधिक सता रही हैं। सीडब्लूसी मेंम्बर प्रमोद तिवारी बुधवार को कैम्प कार्यालय पर पार्टी कार्यकर्ताओं की बैठक को सम्बोधित करतें हुए कहा कि देश के हालात मोदी राज में इस कदर बिगड़ रहे हैं कि जहां हम दो हमारे दो के फार्मूलें पर देश की सत्तर साल की गाढ़ी कमाई दो पूंजी पतियों के हवाले किया जा रहा है। वही श्री तिवारी ने कहा कि प्रधानमंत्री और गृहमंत्री भारत पेट्रोलियम तथा एयर इण्डिया समेत देश की अर्थव्यवस्था को मजबूत करने वाले संस्थानों को मिलकर बेच रहे है। प्रमोद तिवारी ने हाल ही में नक्सलियों द्वारा राकेट लांचर और एलएमजी तथा सीमा सुरक्षा बल से भी अधिक घातक हथियार रखकर सीआरपीएफ के जवानों पर निर्ममता पूर्वक जघन्य हमलें को भी राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरनाक ठहराया है। श्री तिवारी ने राफेल लडाकू विमान की खरीद में साढ़े आठ करोड़ की दलाली की बात सामने आने के बावजूद प्रधानमंत्री तथा गृहमंत्री की अब तक खामोशी को भी रहस्यमय करार दिया है। बैठक की अध्यक्षता ब्लाक कांग्रेस अध्यक्ष केडी मिश्र तथा संचालन मीडिया प्रभारी ज्ञान प्रकाश शुक्ल ने किया। इस मौके पर सांगीपुर प्रमुख अशोक सिंह , चेयरपर्सन प्रतिनिधि संतोष द्विवेदी, लालगंज प्रमुख ददन सिंह, महमूद आलम, ज्ञान पाल तिवारी, सिंटू मिश्रा, अनिल महेश, विनय जायसवाल, कुंवर ज्ञानेन्द्र सिंह, छोटे लाल सरोज, हृदय नारायण मिश्र, जय सिंह, बृजेश द्विवेदी, शास्त्री सौरभ, सुनील सिंह मोनू, आचार्य त्रिवेणीधर शुक्ल, मनोज तिवारी, आदि रहे।