मंदिर की जमीन पर भू माफियाओं के कब्जे को लेकर उप जिला अधिकारी से हुई वार्ता।
मुहम्मदाबाद यूसुफपुर (गाज़ीपुर)। स्थानीय विकासखंड अंतर्गत ग्राम नसीरपुर कला ग्राम हाटा के अंतर्गत आराजी नंबर 46 पर माता महाकाली मंदिर स्थित है । बताते चलें की आगामी माह में नवरात्रि का त्योहार है जहां हजारों श्रद्धालु माता को प्रसाद चढ़ाने आते हैं और उनके श्री चरणों का आशीर्वाद प्राप्त करते हैं।माता महाकाली मंदिर काफी प्राचीन है। मुहम्दाबाद चितबड़ागांव जाते समय सलेमपुर तीराहे से लगभग 100 मीटर आगे जाने पर एक लिंक मार्ग पश्चिम की ओर जाती है। यह लिंक मार्ग आगे जाकर जोधपुर मंडी और स्टेशन की ओर निकलती है।अति प्राचीन माता महाकाली का मंदिर इसी मार्ग पर है। यह लोगों की आस्था का केंद्र है। यहां प्रत्येक माह की 27 तारीख को भव्य भंडारा और भजन कीर्तन का कार्यक्रम होता है। भंडारे के दिन माता के जागरण के गीत गाए जाते हैं।नवरात्र के अवसर पर भक्तों की काफी भीड़ उपस्थित होती है। लेकिन जमीन पर भू माफियाओं के कारण भक्त जनों को काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है। मंदिर के दोनों तरफ की दीवाल से भू माफियाओं द्वारा अतिक्रमण किया जा रहा है। इस संबंध में मंदिर के पुजारी सत्य प्रकाश जी ने तहसील स्तर से लेकर जनपद स्तर तक ,यहां तक कि मुख्यमंत्री से भी अतिक्रमण को रोकने की गुहार लगाई है ।लेकिन किसी का ध्यान इस ओर नहीं जा रहा है। इसी क्रम में स्थानीय नगर की प्रसिद्ध समाज सेवीका मीरा राय ने उप जिलाधिकारी से आज बातचीत की लेकिन अभी तक इसका समाधान नहीं हो सका। जबकि 2 अप्रैल से नवरात्र आरंभ हो रहा है। भक्तों की भारी भीड़ मां के दर्शन हेतु उमड़ेगी। इसी संदर्भ को लेकर आज उप जिला अधिकारी से वार्ता हुई किंतु इसका कोई भी हल नहीं निकला।