सीवान:कोरोना से बचने के लिए सतर्कता जरूरी घबराएं नहीं, सावधान रहें:

सीवान:कोरोना से बचने के लिए सतर्कता जरूरी घबराएं नहीं, सावधान रहें: अन्नु बाबू

कोरोना से जंग जीतकर लौटे डॉक्टर का स्वागत, जागरुकता पर दिया जोर

कोरोना संक्रमण के बढ़ते खतरे से आज हर कोई अपनी सुरक्षा को लेकर चिंतित है। एक तरफ जहां शहर के कई निजी चिकित्सकों ने कोरोना के भय से अपनी क्लीनिक बंद कर दी हे। शहर में कुछ ऐसे में डॉक्टर हैं जो इस विपरीत परिस्थितियों में भी मरीजों की सेवा कर रहे हैं। ऐसा ही एक नाम है शहर के लेप्रोस्कोपिक सर्जन डॉ अन्नू बाबू का बिमास लेप्रोस्कोपिक हॉस्पिटल पर अन्नू बाबू का स्वागत किया गया। दरअसल डॉ अन्नू बाबू मरीजों को देखते हुए खुद कोरोना वायरस की चपेट में आ गए थे।

 

जिसके बाद उन्होंने होम आइसोलेशन में रह कर कोरोना पर विजय हासिल किया। लेकिन उनकी कदम कोरोना भी रोक न सका। अपनी जिंदगी दाव पर लगे होने के बाद भी वे फोन से अपने मरीजों का उपचार और फॉलोअप करते रहे। वहीं कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद से उन्होंने फिर से अपने क्लिनिक में मरीजों का इलाज शुरू कर दिया है।

 

डॉ अन्नू बाबू ने कहा कि डॉक्टर का धर्म है लोगों की जान बचना। डॉक्टरों की पहले से ही बहुत कमी है। ऐसे में एक डॉक्टर होने के नाते हम हाथ पर हाथ धरे नहीं बैठ सकते। डॉक्टर अन्नू बाबू ने कहा कि हमें कोरोना से बचना है तो सोशल डिस्टेंसिंग का पालन और मास्क का प्रयोग जरूर करना होगा। कोरोना से घबड़ाने की जरूरत नहीं है बल्कि इससे सावधान रहें।

राजेश तिवारी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *