देवरिया: कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता नियाज अहमद का लखनऊ में निधन

देवरिया: कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता नियाज अहमद का लखनऊ में निधन

देवरिया: कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता नियाज अहमद का लखनऊ में निधन

देवरिया लोकसभा क्षेत्र से दो बार सांसद का चुनाव लड़ चुके कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता नियाज अहमद का शनिवार को लखनऊ में निधन हो गया। 58 वर्षीय नियाज किडनी की बीमारी से पीड़ित थे। वह बसपा व कांग्रेस से दो बार सांसद, एक बार निर्दल प्रत्याशी के रूप में विधायक व एक बार देवरिया- कुशीनगर स्थानीय प्राधिकारी निर्वाचन क्षेत्र से एमएलसी का चुनाव लड़ चु़के थे।

 

 

मूल रूप से जिले के देसही के रहने वाले नियाज अहमद ने गांव से लेकर जिला मुख्यालय तक शिक्षा ग्रहण की। बाद में वह व्यवसाय के सिलसिले में बाहर चले गए। व्यवसाय में सफलता प्राप्त करने के बाद वह परिवार सहित लखनऊ रहने लगे और सामाजिक व राजनीतिक गतिविधियों में सक्रिय हो गए। जिले की राजनीति में वह 2009 में सक्रिय हुए तथा पहली बार देवरिया- कुशीनगर स्थानीय प्राधिकारी निर्वाचन क्षेत्र से विधान परिषद का चुनाव लड़े। 2012 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने उन्हें पथरदेवा विधानसभा क्षेत्र से प्रत्याशी बनाया, लेकिन अंतिम समय में टिकट काट दिया। इसके बाद वह निर्दल चुनाव लड़े। 2014 के लोकसभा चुनाव के पहले वह बसपा में शामिल हो गए। बसपा से देवरिया संसदीय क्षेत्र से भाजपा के कद्दावर नेता कलराज मिश्र के खिलाफ चुनाव लड़े। उस चुनाव में उन्हें 2 लाख 31 हजार मत मिले।

 

2019 के लोकसभा चुनाव में बसपा ने उनका टिकट काट दिया। इसके बाद वह कांग्रेस में शामिल हो गए तथा कांग्रेस के टिकट पर देवरिया लोकसभा क्षेत्र से चुनाव लड़े, लेकिन पराजित हो गए। चुनाव के दौरान ही उनकी तबियत थोड़ी खराब होनी शुरू हो गई। बाद में जांच में किडनी की बीमारी होने का पता चला। उसके बाद से वह सामाजिक गतिविधियों से दूर हो गए। उनका पीजीआई में इलाज चल रहा था। शनिवार को वह घर पर ही थे। सुबह उनकी तबियत बिगड़ने के बाद परिवार के लोग पीजीआई ले गए, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। उनके निधन पर विभिन्न राजनीतिक दलों के लोगों ने शोक व्यक्त किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *